बालाघाट से बोध सिंह ठोकेंगे ताल!

 

 

बोले लोकसभा चुनाव लड़ना तय, कार्यकर्त्ताओं का है जबर्दस्त दबाव, उनकी भावनाओं का सम्मान जरूरी

(संजीव प्रताप सिंह)

सिवनी (साई)। बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सांसद रहे बोध सिंह भगत ने चुनाव लड़ने का मन बनाते हुए ताल ठोंक दी है। उनका कहना है कि चुनाव तो वे हर हाल में लड़ेंगे। पार्टी अगर पुर्नविचार नहीं करती है तो भी वे चुनाव मैदान में जरूर उतरेंगे।

समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान बालाघाट से सांसद रहे बोध सिंह भगत ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि उनके द्वारा नामाँकन फॉर्म खरीद लिया गया है और वे चुनाव मैदान में जरूर उतरेंगे। उन्होंने कहा कि अभी उन्होंने यह तय नहीं किया है कि वे किसी दल से अथवा निर्दलीय रूप से मैदान में उतरेंगे पर यह तय है कि वे चुनाव लड़ेंगे।

बोध सिंह भगत ने कहा कि उन्होंने पाँच साल क्षेत्र की सेवा की है, क्षेत्र में विकास कार्यों को कराया है। जनता इन्हीं सब कारणों से चाह रही है कि वे चुनाव मैदान में जरूर उतरें। उन्होंने कहा कि उन्हें चारों ओर से फोन आ रहे हैं कि भाऊ मैदान छोड़ना नहीं है, इस बार पिछली बार से ज्यादा मतों से विजयी होना है।

बोध सिंह भगत यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर भी अस्सी से नब्बे फसदी लोग उनके समर्थन में हैं। वे जनता एवं कार्यकर्त्ताओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए हर हाल में चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि इसके लिये उनके द्वारा नामाँकन फॉर्म भी खरीद लिया गया है। उन्होंने बताया कि वे मुहूर्त देखकर नामाँकन फॉर्म दाखिल करेंगे।

उनसे जब यह पूछा गया कि उनके और बालाघाट के भाजपा प्रत्याशी डॉ.ढाल सिंह बिसेन के सौजन्य भेंट के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, के जवाब में उन्होंने कहा कि कोई भी उम्मीदवार जब चुनाव में खड़ा होता है तो वह सभी से सौजन्य भेंट करता है, इसी तरह डॉ.ढाल सिंह बिसेन भी उनसे सौजन्य भेंट करने आये थे।

सुहास भगत बालाघाट में : इधर, भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि प्रदेश के संगठन मंत्री सुहास भगत को गौरी शंकर बिसेन और बोध सिंह भगत के बीच चल रही रस्साकशी को शांत करने लिये बालाघाट भेजा गया है। मंगलवार की देर रात सुहास भगत और बोध सिंह भगत के बीच चर्चा की संभावना सूत्रों के द्वारा जतायी गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *