पूरा हुआ सात वर्षों का सफर

 

 

(शरद खरे)

दैनिक हिन्द गजट के प्रकाशन के सात वर्ष पूरे हो गये हैं। आज से दैनिक हिन्द गजट सातवें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। छः अप्रैल 2012 को हनुमान जयंति पर इसका पहला अंक प्रकाशित हुआ था। इसके बाद सतत रूप से सिवनी जिले पर आधारित और केंद्रित खबरों का प्रकाशन दैनिक हिन्द गजट के द्वारा किया जाता रहा है।

सात वर्ष पूर्व जब दैनिक हिन्द गजट का प्रकाशन आरंभ हुआ था तब कतिपय तत्वों के द्वारा इसे चुका हुआ प्रयास कहने में देर नहीं लगायी गयी थी। उस वक्त सोशल मीडिया पर भी अनेक लोगों के द्वारा तरह-तरह के ताने फिकरे आदि कसे गये। शुरूआती दौर में प्रकाशन के दौरान अनेक बाधाएं भी प्रबंधन के समक्ष उत्पन्न की गयीं। शुरूआती दौर में लखनादौन के कुछ तत्वों के द्वारा हिन्द गजट के द्वारा पैसा उगाही किये जाने की बात भी सोशल मीडिया पर फैलायी गयी थी। इन सात सालों में हिन्द गजट के द्वारा ईमानदारी और विशुद्ध पत्रकारिता के अनेक उदाहरण प्रस्तुत किये गये हैं। आज पाठक इस बात से भली भांति परिचित हैं कि हिन्द गजट के द्वारा कभी भी और किसी भी तरह का अनैतिक दबाव किसी पर भी नहीं बनाया गया है।

यह आप सभी का प्रेम, विश्वास और स्नेह ही था कि सात वर्षों में दैनिक हिन्द गजट ने अपना एक अलग स्थान बना लिया है। दैनिक हिन्द गजट ने सतत खोजी, निर्भीक, साफ-सुथरी, स्थानीय स्तर की खबरों का प्रकाशन कर यह साबित करने का प्रयास किया है कि स्थानीय स्तर के अखबारों में स्थानीय विषयों को प्रमुखता के साथ उठाया जाना चाहिये।

दैनिक हिन्द गजट के द्वारा स्थानीय स्तर पर संपादकीय का सतत प्रकाशन, रविवार विशेष में ज्वलंत मुद्दे, कलेक्टर साहेब सुनिये कॉलम में पाठकों के द्वारा भेजे गये समस्या मूलक छाया चित्रों का प्रकाशन कर, जिला प्रशासन का ध्यान भी समस्याओं की ओर लगातार आकर्षित करने का प्रयास किया गया है।

इसके साथ ही दैनिक हिन्द गजट में देश भर के चुने हुए वरिष्ठ पत्रकारों, स्तंभकारों आदि के सारगर्भित और समसामयिक आलेखों का प्रकाशन किया जा रहा है। इसके अलावा सोशल मीडिया में जगह-जगह बगरे कार्टून्स में से रोजाना सात कार्टून्स को चुनकर पाठकों को गुदगुदाने का प्रयास भी किया गया है।

दैनिक हिन्द गजट के द्वारा जनता की शिकायतों के लिये मुझे शिकायत है कॉलम को आरंभ किया गया है, जिसमें रोजाना ही पाठकों के द्वारा अपने-अपने क्षेत्र की शिकायतों को भेजा जा रहा है। इसके अलावा जिन लोगों के जन्म दिवस की जानकारी होती है उन्हें भी दैनिक हिन्द गजट द्वारा निःशुल्क बधाई दी जाती है।

हमें यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि इन सात वर्षों में दैनिक हिन्द गजट सिर्फ एक अखबार ही नहीं वरन, जन-जन की अभिव्यक्ति और जिले की धड़कनों का प्रमाणिक रोजनामचा बन गया है। हमारा यह प्रयास रहा है कि हमारे द्वारा जनहित में स्थानीय स्तर के ज्वलंत मुद्दों को वजनदारी के साथ उठाया जाये।

हमारा यह प्रयास भी रहा है कि दैनिक हिन्द गजट की खबरें प्रमाणिकता से सराबोर रहें। बेकार, काल्पनिक, वैमनस्यतापूर्ण, पत्रकारिता के मान्य सिद्धांतों से इतर खबरों से परहेज किया जाये। हम अपना आँकलन खुद भी करते हैं और हमारी गलतियों से रूबरू कराने वालों का सदा ही दैनिक हिन्द गजट प्रबंधन ने स्वागत किया है।

सीमित संसाधनों और सीमित पृष्ठों के साथ संपादन का बेहतरीन उदाहरण दैनिक हिन्द गजट की अपनी एक अलग विशेषता है। तीन साल से अधिक समय से मंगलवार को स्वास्थ्य संबंधी, बुधवार को महिला गजट, ब्रहस्पतिवार को अजब-गजब दुनिया, शुक्रवार को बाल गजट एवं रविवारीय के रूप में दूसरे पेज पर संबंधित सामग्रियों के व्यवस्थित प्रकाशन का प्रयास किया गया है प्रबंधन के द्वारा। शेष दिनों में देश-विदेश के ख्यातिलब्ध पत्रकारों, विश्लेषकों, कॉलम राईटर्स के आलेखों का प्रकाशन भी प्रबंधन ने सुनिश्चित किया है।

कम समय में दैनिक हिन्द गजट की कामयाबी का श्रेय निश्चित तौर पर सुधी पाठकगणों के समय-समय पर मिलने वाले मार्गदर्शन के साथ ही साथ दैनिक हिन्द गजट के कार्यालयीन सहयोगियों, प्रसार, विज्ञापनदाताओं, विज्ञापन अभिकर्त्ताओं, क्षेत्रीय प्रतिनिधियों सहित सभी सहयोगियों की कर्मठता एवं जीवटता को जाता है।

इन सात वर्षों में दैनिक हिन्द गजट अनेक उतार-चढ़ावों का साक्षी बना है। प्रतिकूल परिस्थितियों में भी दृढ़ता के साथ दैनिक हिन्द गजट के द्वारा अपने पाठकों को सच्चाई से रूबरू कराया गया है। दैनिक हिन्द गजट पर बम पटकने की धमकी भी मिली पर प्रबंधन डिगा नहीं। आताताई जरायमपेशा लोगों के बारे में लगातार ही दैनिक हिन्द गजट के द्वारा सख्त रवैया अपनाकर सिवनी को अपराध मुक्त बनाने की मुहिम भी छेड़ी गयी, जिसके अच्छे प्रतिसाद भी मिले।

आज महंगाई के इस युग में समाचार पत्र का प्रकाशन वह भी ईमानदारी और सच्चाई के साथ, बेहद दुष्कर कार्य ही है। फिर भी दैनिक हिन्द गजट प्रबंधन के द्वारा गीता के ब्रह्म वाक्य कि कर्म किये जा फल की चिंता न कर, को अपनाकर अपने पथ पर लगातार ही अग्रसर हुआ जा रहा है।

हो सकता है कि कई बार दैनिक हिन्द गजट की खबरों से किसी का दिल भी दुखा होगा पर हम यह बात पूरी जिम्मेदारी के साथ कह सकते हैं कि जब भी इस तरह की कोई बात हुई होगी और जिसका भी दिल दुखा होगा, उसने अगर आत्म मंथन किया होगा तो पाया होगा कि दैनिक हिन्द गजट ने सदा ही समाज, जिला, प्रदेश और देश हित में ही खबरों का प्रकाशन किया है।

दैनिक हिन्द गजट वर्तमान में जिला स्तरीय अखबार है इसलिये हमारी कोशिश होती है कि इसमें जिला स्तर की खबरों को ही प्राथमिकता दी जाये। देश-प्रदेश की वे खबरें जो सिवनी के पाठकों के लिये बहुत जरूरी हैं उनको ही अखबार में स्थान दिया जाता है। यही कारण है कि सियासी दलों की देश-प्रदेश पर केंद्रित विज्ञप्तियों को अखबार में स्थान नहीं मिल पाता है।

एक और बात पाठकों से साझा करना चाहते हैं, वह यह है कि दैनिक हिन्द गजट का ईपेपर भी समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की वेब साईट पर रोज ही हजारों की तादाद में पाठकों के द्वारा पढ़ा जाता है। दैनिक हिन्द गजट की सुर्खियों को रोजाना ही सोशल मीडिया के देश भर के सात सौ से ज्यादा समूहों में प्रसारित किया जाता है, इससे देश-प्रदेश में बैठे और सिवनी से इत्तेफाक रखने वाले लोगों के द्वारा इसे बहुत चाव से पढ़ा जाता है। वैसे दैनिक हिन्द गजट में प्रकाशित खबरों पर शासन प्रशासन के द्वारा भी एक्शन लिये जाते रहे हैं।

दैनिक हिन्द गजट के कर्त्तव्यबोध की रगों में सुधि पाठकों के विश्वास का लहू ही कलम में रोशनाई के मानिंद बह रहा है। यही एक आधार है जिसके चलते दैनिक हिन्द गजट अपना भाल ऊँचा रखने का साहस, शक्ति और धैर्य जुटा पाता है। हम आपसे वायदा करते हैं कि दैनिक हिन्द गजट पत्रकारिता के मान्य सिद्धांतों, आदर्शों एवं मापदण्डों को अक्षुण्य रखते हुए आपकी हर कसौटी पर खरा उतरने का प्रयास करेगा। आज दैनिक हिन्द गजट की आठवीं वर्षगांठ पर कोटिः कोटिः बधाई, आप सभी का आभार, वंदन, अभिनंदन . . .।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *