प्यासे चीतल ने लगायी कुंए में छलांग!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। एक ओर भगवान भास्कर रौद्र रूप दिखाते जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर जंगलों में वन्य जीव पानी के लिये यहाँ वहाँ तरसते हुए भटकते नजर आ रहे हैं। वन विभाग की उदासीनता के चलते जंगलों के अंदर वन्य जीवों के लिये पीने के पानी के स्त्रोत या तो सूख चुके हैं और या इस बार इनकी सुध ही नहीं ली गयी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार केवलारी क्षेत्र के वन ग्राम अर्जुनझिर में एक चीतल पानी की तलाश में भटकते हुए पहुँचा और गाँव के किनारे कुंए के अंदर पानी देखकर उसमें छलांग लगा दी। कुंए में गिरते ही चीतल जोर – जोर से चिल्लाने लगा। उसकी आवाज देखकर ग्रामीण वहाँ एकत्र हो गये।

ग्रामीणों के द्वारा इसकी सूचना वन विभाग को दी गयी। वन विभाग के कर्मचारियों के द्वारा ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू कर चीतल को कुंए से बाहर निकाला गया। बाहर निकलते ही चीतल कुलांचे भरते हुए जंगल की ओर कूच कर गया।