स्कूलों की होगी ग्रेडिंग, अब बनेगा रिपोर्ट कार्ड

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सरकारी स्कूलों की स्थिति सुधारने के लिये स्कूल शिक्षा विभाग मूल्यांकन की तैयारी कर रहा है। इसमें सभी सरकारी स्कूलों की ग्रेडिंग की जायेगी। वहीं स्कूलों के रिपोर्ट कार्ड भी जारी होंगे। स्कूल में दी जा रही सुविधाओं, शिक्षकों के पढ़ाने का तरीका और साफ सफाई जैसे पाँच मापकों पर स्कूलों को परखा जायेगा।

शासन ने वर्ष 2011 में प्रतिभा पर्व की शुरूआत की थी। इसके जरिये शासकीय स्कूलों के बच्चों की प्रतिभा का मूल्यांकन किया जाता है। इसी के साथ स्कूल संचालन, सुविधा आदि भी देखी जाती है, वैसे ही स्कूलों का भी मूल्यांकन किया जा रहा है।

स्कूलों की होगी परख : स्कूलों की ग्रेडिंग के लिये स्कूल शिक्षा विभाग ने पाँच बिंदु तय किये हैं। इनके आधार पर स्कूल की परख की जायेगी। इसमें बच्चों की संख्या, स्कूल की सफाई व्यवस्था, इन्फ्रास्ट्रक्चर, सह शैक्षणिक गतिविधियां, खेल और प्राचार्य की ओर से किये गये व्यक्तिगत प्रयास शामिल हैं।

स्कूलों का निर्धारित मूल्यों पर मूल्यांकन किये जाने के बाद रिपोर्ट कार्ड तैयार किया जायेगा। इसमें सभी पैमानों पर स्कूल की स्थिति के मुताबिक ग्रेड दिया जायेगा। इस तरह सबसे ज्यादा जोर इन्फ्रास्ट्रक्चर और शिक्षकों के पढ़ाने के तरीके पर होगा। यदि पढ़ाने की तकनीक में कोई नयापन होगा तो स्कूल की ग्रेडिंग पर इसका अच्छा असर पड़ेगा। इसके नतीजे पोर्टल पर डाले जायेंगे, ताकि जिन स्कूलों का प्रदर्शन खराब है उन्हें यह पता चले कि वे कैसे बेहतर ग्रेड पा सकते हैं।