पत्रकारिता विश्‍वविद्यालय के खिलाफ प्रथमिकी दर्ज

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय घोटाला मामले में Economic Offences Wing ने जिन 20 लोगों को भ्रष्टाचार के मामले में प्ररकण पंजीबद्ध किया है उनमें एक नाम डॉ. आरती सारंग भी है। बता दें कि डॉ. आरती सारंग भाजपा के नेता एवं पूर्व मंत्री विश्वास सारंग की बहन हैं।

इन लोगों को भ्रष्टाचार के लिए आरोपित किया गया है

एफआईआर में प्रो बृजकिशोर कुठियाला के अलावा डॉ. अनुराग सीठा, डॉ. पी शशिकला, डॉ. पवित्र श्रीवास्तव, डॉ. अविनाश बाजपेयी, डॉ. अरुण कुमार भगत, प्रोफेसर संजय द्विवेदी, डॉ. मोनिका वर्मा, डॉ. कंचन भाटिया, डॉ. मनोज कुमार पचारिया, डॉ. आरती सारंग, डॉ. रंजन सिंह, सुरेंद्र पॉल, डॉ. सौरभ मालवीय, सूर्यप्रकाश, प्रदीप कुमार डेहरिया, सत्येंद्र कुमार डेहरिया, गजेंद्र सिंह अवश्या, डॉ. कपिल राज चंदोरिया और रजनी नागपाल के नाम शामिल है। इसमें ऐसे भी नाम शामिल हैं जिनकी नियुक्ति दिग्विजय शासनकाल में हुई। इसमें डॉ. पवित्र श्रीवास्तव, डॉ. आरती सारंग आदि थे।

कमेटी की जांच के बाद सामने आई थीं ये गड़बड़ियां

कांग्रेस सरकार ने पत्रकारिता विवि में हुई नियुक्तियों व आर्थिक गड़बड़ियों की जांच के लिए कमेटी बनाई थी। इसकी जांच रिपोर्ट में कई अनियमितताएं सामने आई थी। इसके अनुसार कुठियाला ने 2010 से 2018 के बीच एबीवीपी को 8 लाख रुपए, राष्ट्रीय ज्ञान संगम के लिए 9.50 लाख रुपए, जम्मू कश्मीर अध्ययन केंद्र द्वारा श्रीश्री रविशंकर के आश्रम में आयोजित राष्ट्रीय विद्वत संगम के लिए 3 लाख रुपए, भारतीय वेब प्राइवेट लि. नागपुर को 46.607 रुपए का भुगतान किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *