कांग्रेस ने एक महिला को प्रताड़ित किया : प्रज्ञा

 

 

 

 

दिग्विजय सिंह को दिखाऊंगी सबूत: प्रज्ञा ठाकुर

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्य प्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने गुरुवार को कांग्रेस पर हिंदू विरोधी होने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस ने हिंदुओं को आतंकवाद से जोड़ते हुए एक महिला को प्रताड़ित किया। वह इस मुद्दे को लेकर जनता के बीच जाएंगी और प्रताड़ना के सबूत भी देंगी।

साध्वी प्रज्ञा ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘कांग्रेस ने हिंदुओं को आतंकवाद से जोड़ा है, हिंदू आतंकवाद बताया, एक महिला को प्रताड़ित किया, दिग्विजय सिंह सबूत मांग रहे हैं तो उन्हें प्रताड़ना के सबूत दिए जाएंगे।मालेगांव बम विस्फोट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा ने कहा, ‘एक महिला को किस तरह से प्रताड़ित किया गया, कानून का किस तरह से उल्लंघन किया गया, यह सब षड्यंत्रपूर्वक हुआ है। इन मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाऊंगी।

कांग्रेस के गैरकानूनी कार्यों का मैं प्रमाण

साध्वी ने अपने साथ किए गए बर्ताव का जिक्र करते हुए कहा, ‘मुझे जिस तरह से प्रताड़ित किया गया, उस तरह तो गुलामी के दौर में भी किसी को प्रताड़ित नहीं किया गया होगा। अब मैं कैसे यह भरोसा कर लूं कि आने वाले दिनों में किसी अन्य महिला के साथ ऐसा नहीं होगा।प्रज्ञा ने कहा, ‘यह अच्छी बात है कि वह (दिग्विजय) स्वयं सबूत मांग रहे हैं, उन्हें मिल जाएंगे, निश्चित रूप से मिलेंगे। बिना प्रमाण के मैं कोई बात नहीं करती। उन्होंने (कांग्रेस) अब तक जो गैरकानूनी कार्य और षड्यंत्र किए हैं, उनका प्रत्यक्ष प्रमाण मैं हूं।

भड़काऊ भाषणों के लिए भी रही हैं चर्चित

बता दें कि बीजेपी ने भोपाल संसदीय सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को मैदान में उतारा है। साध्वी पर मालेगांव बम विस्फोट मामले में शामिल होने का आरोप है। वह कई बार अपने भड़काऊ भाषणों के लिए सुर्खियों में रहीं। वर्ष 2002 में उन्होंने जय वंदे मातरम जन कल्याण समिति बनाई। स्वामी अवधेशानंद गिरि के संपर्क में आने के बाद प्रज्ञा नए अवतार में नजर आईं। अवधेशानंद का राजनीतिक गलियारे में खासा प्रभाव था।

One thought on “कांग्रेस ने एक महिला को प्रताड़ित किया : प्रज्ञा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *