कांग्रेस की अजग गति, चार माह में अरबपति!

 

 

सत्ता से दूर होते ही तड़पने लगी कांग्रेस : शिवराज

(महेंद्र सोनी)

बरघाट (साई)। कांग्रेस 15 वर्ष से सत्ता से दूर क्या हुई, तड़पने लगी और सत्ता हासिल करने 10 दिनों में किसानों का कर्जा माफ करने,बेरोजगारों को भत्ता देने सहित अनेक लोक लुभावन और झूठे वादे कर प्रदेश की जनता को गुमराह किया।

उक्ताशय की बात पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बरघाट के स्टेडियम में बालाघाट संसदीय क्षेत्र के उम्मीदवार डॉ. ढाल सिंह बिसेन के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के रार्ष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी 10 दिन में कर्जा माफ न होने पर मुख्यमंत्री बदलने की घोषणा की। आज कांग्रेस को सत्ता हथियाये 120 दिन हो गये, न किसानों का कर्जा माफ हुआ और न ही अभी तक 12 मुख्यमंत्री बदले। आप सब डॉ. बिसेन को अच्छी तरह जानते पहचानते है। पार्टी ने आपको एक योग्य और कर्मठ प्रत्याशी दिया है। अब यह मौका हाथ से जाने न पाये।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसानों पर 48 हजार करोड़ रुपए का कर्जा बाकी है। आश्चर्य इस बात का है किसानों की कर्ज माफी का वचन देने वाले कमलनाथ ने बजट में सिर्फ 05 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया और उसमें से भी बैंक में मात्र 13 सौ करोड़ रुपए डाले है। इस रकम में कुछ संपन्न लोगों के तो कर्जा माफ हो गया, लेकिन आज भी पात्र किसान भटक रहा है। खुद व्यवस्था नहीं कर पाये, तो अब नया बहाना लेकर आये हैं, कि कांग्रेस अंबानी की जेब से निकालकर आपका कर्जा माफ करेगी।

श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव के समय वादा किया था कि वह बेरोजगारों को 04 हजार बेरोजगारी भत्ता देगी, लेकिन अब रोजगार देने के लिये प्रशिक्षण देने की बात कर रहे हैं और यह प्रशिक्षण बैण्ड बजाने,जानवर चराने, बंदर भगाने का देकर नवजवानों का मजाक उड़ा रहे है। इसी तरह गेंहू खरीदी के मामले में किसानों की लाईन लगी हुई है। किसानों की धान की खरीदी नही हो रही, पोर्टल बंद कर दिये गये। कांग्रेस ने पोर्टल बंद नहीं किया बल्कि किसानों की किस्मत बंद कर दी है। हमने तो मक्का,सोयाबीन तथा लहसुन,प्याज तक का मुआवजा दिया, लेेकिन वर्तमान में कांग्रेस के मुख्यमंत्री कमल नाथ को किसानों को कुछ देने में पसीना छूटने लगता है।

उन्होंने कहा कि जब भाजपा की सरकार थी तो उन्होंने जिले को मेडीकल कॉलेज दिया लेकिन जिले से बैर रखने वाले कमल नाथ ने उसका काम भी ठीक वैसे ही रूकवा दिया है, जैसे यूपीए की सरकार में फोरलाईन का काम रूकवा दिया था। एनडीए की सरकार आने पर फोरलेन की बाधा दूर हुई और काम अब दु्रत गति से जारी है। कांग्रेस गरीबी हटाने का नारा देती है और सत्ता में आने पर गरीबों को हटाने लगती है। प्रदेश में जब से कांग्रेस की लंगड़ी सरकार बनी है, तब से गरीबों के लिये भाजपा द्वारा आरंभ की गयी संबल योजना सहित अन्य योजनायें बंद कर दी गयी है।

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मेड इन म.प्र., मेड इन जबलपुर, मेड इन भोपाल, मेड इन इंदौर की बात कर रहे थे, किंतु सत्ता पर बैठते ही केवल एक उद्योग आरंभ हुआ वह ट्रांसर्फर उद्योग है। शिवराज ने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस की अजब गति, चार माह में अरबपति। उन्होंने जनता से आव्हान किया कि बालाघाट सिवनी संसदीय क्षेत्र के विकास को गति देने एवं नरेन्द्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनाने के लिये कमल की बटन दबायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *