जनता के भरोसे पर खरा उतरा, आगे भी उतरूंगा : डॉ.ढाल सिंह

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। मैंने राजनीति में पारदर्शिता रखी है। जनता की अपेक्षाओं को पूरा करना मेरा ध्येय रहा है। क्षेत्र की जरूरतों को पूरा करने के लिये मैंने निरंतर कार्य किया है।

उक्ताशय की बात डॉ.ढाल सिंह बिसेन ने जनता जर्नादन के समक्ष रखते हुए कहा है कि बरघाट विधान सभा क्षेत्र इसका उदाहरण है। यहाँ की जनता ने लगातार चार बार उन्हें प्रतिनिधित्व करने का अवसर दिया। जनता ने उन पर जो भरोसा जताया उसी का परिणाम रहा कि वर्षों से सूखा का सामना करने वाला बरघाट क्षेत्र अब 80 प्रतिशत सूखा मुक्त है।

उन्होंने कहा कि बरघाट विधान सभा क्षेत्र में शिक्षा एवं सिंचाई के बेहतर संसाधन हैं तो, स्वास्थ्य की सुविधाएं भी हैं। सुगम आगमन के लिये प्रधानमंत्री सड़क का जाल बिछा हुआ है तो, हिर्री नदी में एक नहीं अनेक पुल हैं। लाख की खेती, सब्जियों का उत्पादन एवं पशुपालन लोगों की आमदानी का अतिरिक्त जरिया बना है। बरघाट नगर में वर्षों से व्याप्त पानी की किल्लत का स्थायी हल निकालने एवं हजारों हेक्टेयर भूमि सिंचित करने कांचना मण्डी जलाशय है।

डॉ.बिसेन ने आगे कहा कि जिला जेल आज सर्किल जेल के स्वरूप में है। जिला चिकित्सालय में ट्रामा सेंटर की बिल्डिंग बन कर तैयार है जिसे अब बस सिर्फ आरंभ कराना है। उन्होंने जनता से वायदा खिलाफी कभी नहीं की। केवलारी से चुनाव लड़ा और हारा किंतु सागर नदी एवं बैनगंगा नदी पर पुल एवं बस स्टैण्ड सौंदर्यीकरण जैसे अनेक वायदों को प्रदेश की तत्कालीन भाजपा सरकार से पूरा कराया। सिवनी और बालाघाट में अभी और भी विकास की दरकार है। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा बालाघाट एवं सिवनी की प्रमुख आवश्यकताओं को लेकर एक संकल्प पत्र जारी किया है, जिसे पूरा करने के लिये वे प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा कि उनका राजनीतिक जीवन आध्यात्म से प्रेरित रहा है। गीता ने उन्हें फल की चिंता किये बिना कर्म करना सिखाया है, तो रामायण ने मर्यादाओं में रहना और उसका पालन करना। जब वे भारतीय जनता पार्टी से जुड़े तो उन्हें लगा कि भारतीय संस्कृति का यह चिंतन पार्टी की विचारधारा में सहज समाहित है। एक चिंता मुक्त, समृद्ध और गौरवशाली भारत की परिकल्पना को साकार करना ही भाजपा का ध्येय है। इस कर्म पथ पर अटल बिहारी वाजपेयी के बाद अब नरेंद्र मोदी आगे बढ़ा रहे हैं।

डॉ.बिसेन ने कहा कि विश्व शक्ति के रूप में भारत को स्थापित करना, यह भाजपा के पितृ पुरुषों का सपना रहा है। नरेंद्र मोदी ने भारत के सम्मान को विश्व पटल पर बढ़ाया है और आज एक शक्तिशाली देश के रूप में उसकी छवि विश्व में बनी है। नरेंद्र मोदी ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति और कार्यप्रणाली से यह प्रमाणित कर दिया है कि भाजपा सत्ता के लिये कर्त्तव्यों से समझौता नहीं करती। उन्होंने कहा कि मतदान लोकतंत्र का एक पावन उत्सव है। उन्होंने अपील की है कि इस महापर्व में सभी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। उन्होंने कहा कि मतदाताओं का एक मत देश की दशा और दिशा तय करेगा।