दिग्विजय सिंह पर बरसे शिवराज

बोले- प्रचार के लिए कन्हैया के अलावा कोई नहीं मिला

(ब्‍यूरो कार्यालय)

इंदौर (साई)। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह पर सोमवार को हमला बोलते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री को अपने प्रचार के लिये देशद्रोह का सामना कर रहे जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के अलावा और कोई नहीं मिला है?

शिवराज ने इंदौर लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी उम्मीदवार शंकर लालवानी की नामांकन रैली में कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गुरु दिग्विजय सिंह ओसामा-बिन-लादेन को ओसामा जी कहते हैं और आतंकवादियों के साथ खड़े होते हैं।

शिवराज ने कहा, ‘उन्हें (दिग्विजय सिंह को) भोपाल में अपने चुनाव प्रचार के लिये जब कोई और नहीं मिला तो वह कन्हैया कुमार को बुला रहे हैं जिन पर देशद्रोह का मुकदमा चल रहा है।सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, ‘कांग्रेस आतंकवादियों की भाषा बोलती है और देशद्रोहियों का समर्थन करती है। कांग्रेस देशद्रोह निरोधक कानून खत्म करने की बात करती है।बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर से मुकाबला कर रहे दिग्विजय ने रविवार सुबह यह बात खुद सार्वजनिक की थी कि कन्हैया कुमार 8 और 9 मई को उनके चुनाव प्रचार के लिए भोपाल पहुंचेंगे।

कुमार इस बार बिहार की बेगूसराय सीट से सीपीआई उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। शिवराज ने यह आरोप भी लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी झूठ बोलने का रेकॉर्ड तोड़ रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर लगातार गलतबयानी कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘राहुल को चौकीदार चोर हैवाले अपने बयान को लेकर सुप्रीम कोर्ट से माफी मांगनी पड़ी है। आजादी के बाद महात्मा गांधी ने कहा था कि कांग्रेस को भंग कर दिया जाना चाहिए। मुझे लगता है कि कांग्रेस को खत्म करने का काम राहुल के हाथों ही संपन्न होगा।

शिवराज ने यह भी कहा कि बीजेपी के विपक्षी दलों के पास प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के मुकाबले कोई चुनावी चेहरा ही नहीं है। किसान कर्जमाफी और बेरोजगारी भत्ते को लेकर कांग्रेस के चुनावी वचनों पर मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार को घेरते हुए शिवराज ने कहा कि सूबे की सत्ता में 15 साल बाद लौटी कांग्रेस ये वादे निभाने में नाकाम रही है। उन्होंने तंज किया, ‘कमलनाथ सरकार बेरोजगार युवाओं को ढोर (पशु) चराने और बैंड बजाने का प्रशिक्षण देना चाहती है। बाद में यह सरकार युवाओं से कहेगी कि (रोजगार के लिए) बंदर नचाओ और बिच्छू पकड़ लाओ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *