जानिये अक्षय तृतीया का महत्व

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। हिन्दू धर्म में हर पर्व का एक विशेष महत्व होता है। जैसे होली रंगों के लिये, दीपावली दीपों के लिये वैसे ही अक्षय तृतीय सोना खरीदने के लिये बेहद शुभ दिन माना जाता है। इस दिन सोना खरीदने से घर में सुख समृद्धि बढ़ती है।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार अक्षय तृतीया पर जो भी शुभ कार्य किया जाता है उसका क्षय नहीं होता है। इस दिन सोना खरीदने का बेहद महत्व होता है। ऐसी मान्यता है कि है कि इस दिन जो भी कोई शख्स शुभ मुहूर्त में अपने घर सोना लेकर आता है उसके घर में लक्ष्मी देवी का वास होता है।

अक्षय तृतीया का पर्व इस बार मंगलवार 07 मई को है। इसी दिन भगवान परशुराम जयंति भी है। अक्षय तृतीया का पर्व हिन्दू कैलेण्डर के अनुसार वैशाख मास की शुक्ल पक्ष तृतीया को अक्षय तृतीया के नाम से जाना जाता है। इस दिन लोगों में सोना, चाँदी आदि खरीदने की विशेष परंपरा है।

अक्षय तृतीया का महत्व : अक्षय तृतीया पर लोगों के मन में खासा उत्साह रहता है। विशेषकर महिलाएं सोने के गहनों की खरीदारी के लिये इस दिन का साल भर इंतजार करती हैं। ऐसी मान्यता है कि इस दिन सोना खरीदने से सुख समृद्धि बढ़ती है।

अक्षय का अर्थ होता है, जो कभी न खत्म होने वाली वस्तु। इसलिये इस दिन जो भी वस्तु खरीदते हैं, उसमें ईश्वर की कृपा से कई गुना इजाफा होता है। सोने को सुख और समृद्धि के प्रतीक के तौर पर घरों में खरीदा जाता है और उसमें बढ़ौत्तरी की प्रार्थना की जाती है।

अक्षय तृतीया के लिये मंत्र : अक्षय तृतीया के दिन सुबह जल्दी उठकर नित्य कर्मों से निपट कर तांबे के बर्तन में शुद्ध जल लेकर भगवान सूर्य को पूर्व की ओर मुख करके चढ़ाएं और इस मंत्र का जप करें : ऊँ भास्कराय विग्रहे महातेजाय धीमहि, तन्नो सूर्यः प्रचोदयात, इससे अक्षय तृतीय पर्व का लाभ ज्यादा मिलता है।

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त : अक्षय तृतीया को सोना खरीदने का शुभ समय सुबह 06ः26 बजे से रात्रि 11ः47 बजे तक है। गौरीजी, लक्ष्मीजी और विष्णुजी की पूजा मुहूर्त सुबह 09 से 12 बजे तक, सोना चाँदी या आभूषण खरीदने का मुहूर्त दोपहर डेढ़ बजे से शाम 04 बजे तक है। इसी मुहूर्त में सगाई, शादी, गृह प्रवेश, गृह आरंभ कुछ भी करना शुभ माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *