राजधानी में हैं 9300 लाइसेंसी बंदूक, जमा हो गईं 10 हजार 163

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। भोपाल जिले में जितनी लाइसेंसी बंदूकें नहीं हैं, उससे अधिक बंदूकें विभिन्न थानों व बंदूक घरों में जमा हो गईं हैं। यह खुलासा चुनाव आचार संहिता के चलते बंदूकें जमा होने के रिकॉर्ड से हो रहा है।

बता दें कि बीते 10 मार्च को लोकसभा चुनाव-2019 की आचार संहिता लगने के बाद जिले के 9300 रजिस्टर्ड लाइसेंसधारियों को उनकी बंदूकें जमा करने के लिए कहा गया था, लेकिन जिले में 10 हजार 163 से अधिक बंदूकें जमा हो चुकी हैं। यह पहला मौका है जब लाइसेंस से अधिक बंदूकें थानों व बंदूक घरों में जमा हो गई हैं। इससे जिला प्रशासन के अधिकारी भी परेशान हैं। खासबात यह है कि कुछ लाइसेंसधारी ऐसे हैं, जिन्होंने अब तक अपनी बंदूकें जमा नहीं कराई है। उन्हें जल्द ही नोटिस थमाए जाएंगे।

बाहरी लोगों ने भी बंदूकें कराईं जमा

बंदूक शाखा व पुलिस थाने के अधिकारियों की माने तो अन्य जिलों में रहने वाले बंदूकधारक, काम की तलाश में भोपाल में आकर रहने लगे हैं। इनमें अधिकतर गार्ड हैं। ये विशेषकर भिंड, मुरैना, ग्वालियर, होशंगाबाद, छिंदवाड़ा, दमोह, रतलाम आदि क्षेत्रों के हैं। इन लोगों ने भोपाल में रहने के दौरान लोकसभा चुनाव की आचार संहिता के चलते अपनी बंदूकें संबंधित थानों में जमा करा दी हैं। बताया जा रहा है कि ऐसे बंदूक धारकों की संख्या 700 के करीब है।