पानी मुश्किल, शराब है आसानी से उपलब्ध!

 

पेयजल की त्राहि त्राहि मची सागर में

(अवनीश बरमैया)

बण्डोल (साई)। बण्डोल के पास एक गाँव का नाम सागर है फिर भी लोग बूंद-बूंद पानी को तरसते नजर आ रहे हैं। सिवनी जिले के छपारा जनपद पंचायत सिवनी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली सागर ग्राम पंचायत इन दिनों पेयजल संकट से जूझ रही है, जिसको लेकर ग्रामीण परेशान हैं।

उक्त संबंध में ग्राम की महिलाओं ने बताया कि वे 02 बजे रात से पानी भरने के लिये एक हैण्ड पंप पर लाईन लगा लेतीं हैं, जो सुबह दिन निकलने तक एक हैण्ड पंप से पानी भरा करते हैं। पीने का पानी व दैनिक उपयोग के लिये एक ही हैण्ड पंप का उपयोग किया जा रहा है। ग्राम पंचायत सागर में 06 हैण्ड पंप जिनमें हैं जिनमें से तीन सार्वजनिक हैं लेकिन उनमें जल संकट गहरा गया है।

ग्रामीणों का कहना है कि गाँव का एक ही हैण्ड पंप वास्तव में ग्रामीणों की प्यास बुझा रहा है। इसके अलावा गाँव में किसी तरह के जल स्त्रोत नहीं बचे हैं। ग्रामीणों का कहना है पूर्व में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने नजदीक के ग्राम ढोलबजा में पानी के लिये एक बोर खनन कराया था, जिसमें फ्लोराईड की अत्याधिक मात्रा निकल जाने के कारण उसका पानी पीने योग्य कतई नहीं रह गया है, इस तरह वह योजना भी फेल हो गयी।

ग्राम सागर 800 से ज्यादा मतदाताओं के परिवार निवासरत है, जहाँ पेयजल समस्या को लेकर लोग लंबे समय से जूझ रहे हैं। विधायक से लेकर अधिकारी सिर्फ आश्वासन दे रहे हैं लेकिन किसी के भी द्वारा अब तक पेयजल की समस्या से निजात नहीं दिलायी जा सकी है।

पानी कठिनाई से पर शराब है आसानी से उपलब्ध : ग्राम पंचायत सागर के एक पंच ने बताया कि गाँव में पानी की समस्या है। पानी तो कहीं नहीं मिल पा रहा है पर गाँव में शराब जरूर मिलती है।

ग्रामीणों में शामिल महेंद्र बागरी, रमेश चंद्रवंशी, शब्बीर कुरैशी, संदीप यादव, सिराजो, गुलशन बी ने पानी की समस्या के बारे में बताया कि यदि ग्राम पंचायत पुराने कुंओं की समय से सफाई कराती है और जल स्त्रोतों को संरक्षित किया जाता तो गाँव में इस तरह पेयजल की समस्या नहीं होगी।