बिजली की आँख मिचौली बन रही परेशानी का सबब

 

 

(संतोष बर्मन)

घंसौर (साई)। एक ओर भगवान भास्कर अपना रौद्र रूप दिखाते जा रहे हैं तो दूसरी ओर विद्युत वितरण कंपनी के द्वारा अघोषित बिजली की कटौती, लोगों के लिये परेशानी का सबब बनती दिख रही है। आलम यह है कि क्षेत्र में अनेक स्थानों पर घण्टों ही बिजली गुल रहती है।

बताया जाता है कि आदिवासी बाहुल्य तहसील मुख्यालय घंसौर सहित आसपास के लगभग ढाई सौ गाँवों के ग्रामवासी लगातार हो रही बिजली की अघोषित कटौती के कारण अच्छे खासे परेशान हैं। इन दिनों जिले में पारा लगातार 40 के आसपास ही चल रहा है। ऐसे में कभी भी बिजली के चले जाने के कारण सभी को परेशान होना पड़ रहा है।

वहीं ऑनलाईन कार्य या इसी तरह के दूसरे काम करने वाले लोग भी परेशान हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि वे इन्वर्टर तक चार्ज नहीं कर पा रहे हैं। लोग इस बात से भी खासे नाराज नजर आ रहे हैं कि उनके मोबाईल भी दिन में चार्ज नहीं हो पा रहे हैं।

बिजली की बार – बार आवाजाही के कारण सबसे ज्यादा परेशान घंसौर सहित आसपास के क्षेत्र के ग्रामीण हैं। यहाँ जिस तरह से लगातार अघोषित रुप से बिजली कटौती हो रही है उससे घंसौर क्षेत्र के लोग परेशान हैं। दिन में कई बार कोई भी सूचना दिये बिना ही बिजली की आपूर्ति बंद कर दी जाती है।

एक बड़े क्षेत्र में कई-कई घण्टे बिजली बंद की दी जाती है जिसके कारण भारी तादाद में लोगों को गर्मी में परेशान होना पड़ता है। इसके साथ ही बैंक व अन्य स्थानों के कंप्यूटर बंद हो जाने के कारण भी लोगों को घण्टों अपने कामों के लिये कार्यालयों मंे व्यर्थ ही खड़ा रहना पड़ रहा है। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि उनके द्वारा लगातार शिकायत किये जाने के बाद भी व्यवस्था नहीं सुधर पा रही है।

वहीं इस मामले में विद्युत वितरण कंपनी घंसौर में पदस्थ सहायक अभियंता पंकज वर्मा का कहना है कि मेंटेनेंस किया जा रहा है। उनका कहना है कि गर्मी के दिनों मे लोड बढ़ जाता है जिसके कारण लाईट आती जाती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *