10वीं व 12वीं में फेल CBSE छात्रों को पास होने का एक और मौका

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

इंदौर (साई)। सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के छात्र यदि परीक्षा में फेल हो जाएं तो उन्हें फिर से साल रिपिट करने की जरूरत नहीं। मप्र राज्य ओपन स्कूल द्वारा इस साल से सीबीएसई के छात्रों को पास होने का एक ओर मौका दिया जाएगा।

मप्र राज्य ओपन स्कूल पहली बार फेल होने वाले छात्रों के लिए फिर परीक्षा आयोजित करेगा। इसको देकर भी छात्र पास हो सकेंगे। गौरतलब है कि अभी मप्र राज्य ओपन स्कूल द्वारा रुक जाना नहींयोजना के तहत माध्यमिक शिक्षा मंडल के 10वीं व 12वीं में फेल होने वाले छात्रों के लिए वर्ष 2016 से इस तरह की परीक्षा आयोजित करता आ रहा है।

प्रतिवर्ष इसमें प्रदेश के लगभग डेढ़ लाख छात्र शामिल होते हैं। मप्र राज्य ओपन स्कूल द्वारा आयोजित होने वाली इस परीक्षा में सीबीएसई के देशभर के छात्र शामिल हो सकते हैं, लेकिन उनके लिए परीक्षा केंद्र मप्र के जिलों में रहेंगे। मप्र राज्य ओपन से जुड़े अधिकारियों की फिलहाल प्रदेश से बाहर कोई परीक्षा केंद्र बनाने की योजना नहीं है। इससे जेईई मेन्स में चयनित होने वाले उन छात्रों को फायदा मिलेगा जो 12वीं में फेल हो गए हैं।

कई छात्र जेईई मेन्स में पास होकर 12वीं में फेल हो जाते थे

12वीं में मैथ्य-साइंस वाले कई छात्र जेईई जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में सालभर ध्यान देते हैं। ऐसे में कई छात्र जेईई मैन्स में तो पास हो जाते हैं, लेकिन 12वीं में फेल हो जाते हैं। ऐसे में उनकी मेहनत पर पानी फिर जाता है। मप्र राज्य ओपन स्कूल द्वारा फेल होने वाले छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित होने से ऐसे छात्रों को भी लाभ मिल सकेगा।

पिछले साल बनी थी योजना, मई माह में ही होगी परीक्षा

सीबीएसई से इस बार काफी पहले 12वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है। ऐसे में जो छात्र फेल हो गए हैं उनके लिए मप्र राज्य ओपन स्कूल मई माह में परीक्षा आयोजित करेगा ताकि छात्र अन्य किसी कॉलेज में प्रवेश लेना चाहता है तो इसके रिजल्ट के आधार पर प्रवेश ले सके। मप्र राज्य ओपन स्कूल द्वारा सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा में फेल होने वाले छात्रों के लिए ऑन डिमांड एक्जाम की योजना पिछले साल बनाई गई थी लेकिन पिछले वर्ष समय कम होने के कारण मप्र राज्य ओपन स्कूल इसकी परीक्षाएं आयोजित नहीं कर सका था। इस बार रिजल्ट जल्दी आने के कारण अब मप्र राज्य ओपन स्कूल को फेल हो चुके छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित करने के लिए ज्यादा समय मिल गया है और इस बार यह परीक्षा मई माह में ही आयोजित होगी।

मप्र राज्य ओपन स्कूल देगा तीन विषयों की क्रेडिट

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूल अभी सीबीएसई के फेल हो चुके छात्रों को पास होने का एक मौका देने के लिए साल में दो बार परीक्षा आयोजित करता है। हालांकि इसमें सीटें सीमित होती हैं और परीक्षा सेंटर भी मप्र में इंदौर, ग्वालियर व भोपाल सहित प्रदेश के चुनिंदा शहरों में होते हैं। ऐसे में बहुत कम छात्र ही इस परीक्षा में शामिल हो पाते हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूल अभी दो विषयों की क्रेडिट ही छात्रों को देता है यानी जिन दो विषयों में छात्र पास हुए हैं उसके नंबर राज्य ओपन स्कूल के रिजल्ट में जुड़ जाएंगे। छात्र को सिर्फ फेल हुए विषयों सहित तीन विषयों की परीक्षा देना होगी। मप्र राज्य ओपन स्कूल सीबीएसई के छात्रों को तीन विषयों की क्रेडिट देगा। यानी छात्र जिन दो विषयों में फेल हुआ होगा सिर्फ उसी की परीक्षा देनी होगी।

सीबीएसई के स्कूलों व छात्रों की ओर से आई थी डिमांड

पिछले कुछ वर्षों से सीबीएसई स्कूल व छात्रों की ओर से डिमांड आ रही थी कि उनके फेल हो चुके छात्रों को पास होने का मौका देने के लिए मप्र राज्य ओपन स्कूल इस तरह की परीक्षा आयोजित करे। इससे हमने इस बार सीबीएसई के छात्रों के लिए परीक्षा करने का निर्णय लिया। यह परीक्षा 25 से 30 मई के बीच करवाने की योजना है और इसका रिजल्ट भी हम जून माह में जारी कर देंगे। इससे जेईई मेन्स में चयनित होने वाले उन छात्रों को फायदा मिलेगा जो 12वीं में फेल हो गए हैं। – पीआर तिवारी, डायरेक्ट मप्र राज्य ओपन स्कूल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *