मनरेगा में मशीनों से हो रहा काम!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र घंसौर विकास खण्ड के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत गोलिया में महात्मा गाँधी रोजगार योजना (मनरेगा) के तहत पुलिया निर्माण का काम मजदूरों की बजाय मशीनों से कराया जा रहा है।

ग्रामीणों के द्वारा बताया गया कि मनरेगा के तहत होने वाले कामों को कराने का उद्देश्य ही मजदूरों को आसपास रोजगार मुहैया करवाना है, इसके बाद भी गोलिया पंचायत के द्वारा इस योजना के तहत काम को मजदूरों से कराये जाने की बजाय, यहाँ मशीनों का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है।

बताया जाता है कि आठ लाख रूपये की लागत के काम तो मशीनों से हो रहा है किन्तु ग्राम पंचायत के कर्णधारों के द्वारा इसमें फर्जी मजदूरों का नाम दर्शाकर मस्टर रोल भी तैयार कराये जा रहे हैं। इतना ही नहीं इस काम में तकनीकि पहलुओं को भी ध्यान में नहीं रखा जा रहा है।

बताया जाता है पुलिया के एक सिरे पर पाईप के रूख को किसान के खेत की ओर कर दिया गया है, जिससे बारिश में तेज बहाव के दौरान किसान के खेत में पानी भरने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता है।

पुलिया निर्माण कार्य में अनियमितता की एवं मशीनों से हो रहे काम की शिकायत प्राप्त हुई है. मौका मुआयना के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.

राजू नामदेव,

एसडीओ घंसौर.