पड़ोसी से अफेयर के शक में भाइयों ने किया एसिड अटैक

 

 

 

 

मां ने अस्पताल में अकेला छोड़ा

(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। मेरी मां कहा हैं? कृपया उन्हें बुलाएंसलमा (22) उस एक इंसान के बारे में लगातार पूछ रही थी जिसे वह अपने पास देखना चाहती थी क्योंकि उसका चेहरा, गर्दन और सीना गंभीर रूप से जल गया है। किसी में इतनी हिम्मत नहीं थी कि उसे सच बता पाए। सलमा की मां दो दिन पहले ही उसे अस्पताल में अकेला छोड़ गई।

इस लड़की के भाइयों ने उसपर तेजाब से हमला किया और कार से बाहर फेंक दिया। उसके जख्म को देखकर सफदरजंग अस्पताल के स्टाफ और पुलिसकर्मी हैरान हैं जहां वह आईसीयू में भर्ती है। अब वे ही उसका परिवार बन गए हैं। उसके भाइयों इरफान और रिजवान को अभी गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

पुलिस ने कहा कि दोनों भाइयों को शक था कि सलमा का पड़ोस के किसी शादीशुदा व्यक्ति साथ अफेयर है। दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत हत्या की कोशिश के आरोप दर्ज किए गए हैं। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक, नर्स सलमा का ख्याल रख रही हैं। पुलिसकर्मी उसके लिए पानी, जूस ला रहे हैं जो कि अस्पताल में मौजूद नहीं है। पुलिस ने वहां एक अटेंडेंट भी तैनात किया है जो कि सलमा को वॉशरूम ले जाने में उसकी मदद करे। पांच दिन के बाद भी सलमा की हालत गंभीर है।

अस्पताल सूत्रों के मुताबिक, तेजाब हमले से उसकी स्वसन प्रणाली प्रभावित हुई है और उसे वेंटिलेटर पर रखा जा सकता है। अस्पताल में तैनात यूपी पुलिस की कॉन्स्टेबल ने बताया कि उसकी मां के बारे में पुलिस ने दो दिन पहले पता लगाया और उसे सलमा से मिलाने आईसीयू लाया गया। पुलिस ने बताया, ‘लेकिन उसने कहा कि उसके पास इतनी हिम्मत नहीं है कि बेटी का सामना कर सके या उसका ख्याल रख सके। उस दिन वह अस्पताल में रही लेकिन फिर अचानक चली गई।

दिल्ली महिला आयोग की काउंसलर की टीम ने मंगलवार को सलमा से मुलाकात की, लेकिन वह बहुत मुश्किल ही कुछ कह पा रही थी। अस्पताल के स्टाफ ने कहा, ‘बाहरी लोग उसे वित्तीय मदद दे सकते हैं और डॉक्टर मेडिकल मदद दे सकते हैं, लेकिन उसे इस वक्त अपने परिवार की जरूरत है जो कि उसके पास नहीं है।

इरफान और रिजवान क्रमशः नोएडा और बुलंदशहर की प्राइवेट कंपनियों में काम करते हैं। उनके पिता बुलंदशहर के गुलावाती गांव में फल बेचते हैं। परिवार अलीगढ़ से ताल्लुक रखता है। यह परिवार किराये के मकान में रहता है। सलमा की पढ़ाई बीच में छूट चुकी है। एसपी (ग्रामीण) विनीत जायसवाल ने कहा कि पुलिस ने सलमा के परिवार के अन्य सदस्यों से बात की है उनके मुताबिक, जिस व्यक्ति के साथ उसका अफेयर था वह उसके मकान मालिक का बेटा है। एसपी ने कहा, ‘उनका दावा है कि लड़का शादीशुदा था लेकिन वह अपनी पत्नी से अलग रहता था। जिसका विरोध उसके भाई कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘हम दो आरोपियों के लोकशन का पता लगा रहे हैं। उनके रिश्तेदारों के घरों और अन्य जगहों पर छापेमारी की गई है लेकिन हमें अच्छी लीड मिली है। जल्द ही उनकी गिरफ्तीर हो जाएगी।

उधर, दादरी थाने के सब-इंस्पेक्टर विकास कुमार ने बताया कि सलमा और उनके भाई एक पारिवारिक फंक्शन में हिस्सा लेने अलीगढ़ गए हुए थे। घर लौटने के दौरान सलमा पर हमला हुआ, जब वे नोएडा की तरफ लौट रहे थे तो भाइयों ने कथित रूप से सलमा से कहा कि वह उन्हें शहर दिखाएंगे। सलमा के बयान के मुताबिक, वे लोग कोट गांव पहुंचे थे तभी भाइयों ने उसका गला दबाने की कोशिश की। जब वह बेहोश हो गई तो उन्होंने उसे कार से बाहर फेंक दिया और चेहरे पर तेजाब फेंक दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *