सूर्यदेव का वृषभ राशि में प्रवेश

 

बढ़ेगी गर्मी, महिला राजनेता का बढ़ेगा प्रभाव

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सूर्यदेव अपनी उच्च राशि मेष से पृथ्वी तत्व की राशि वृषभ में प्रवेश कर गये हैं। इसके चलते अब भीषण गर्मी का मौसम देखने को मिलेगा। साथ ही जगह – जगह आगजनी की घटनाएं बढ़ेंगी। वहीं किसी बड़ी महिला राजनेता का सरकार को समर्थन देकर सत्ता में महत्वपूर्ण पद पाने का योग बन रहा है।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार सूर्य के राशि परिवर्तन के समय बन रही ग्रह स्थिति से आने वाले 30 दिनों में मौसम में बदलाव और अन्य सामाजिक अर्थिक परिवर्तन देखने को मिलेंगे। सूर्य देव 15 मई को सुबह 11 बजकर 02 मिनिट पर वृषभ राशि में प्रवेश कर गये हैं। वे यहाँ पर 15 जून तक रहेंगे।

सूर्यदेव करायेंगे राजनीति में उठापटक : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार आजाद भारत की कुण्डली में चंद्रमा तीसरे घर में स्थित है। इस कुण्डली के छठे भाव में केतु और शनि की युक्ति पर हानि का स्थान बाहरवें घर से राहु और मंगल की दृष्टि होगी। इस योग के प्रभाव से चुनाव नतीजों के बाद प्रदेश में बड़ी राजनीतिक उठापटक देखने को मिलेगी।

महिला नेता का बढ़ेगा कद : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार केन्द्र सरकार के दशम भाव में स्थित बुध और शुक्र क्रमशः तीसरे और चौथे घर के स्वामी होकर वर्तमान सरकार द्वारा नये सहयोगियों की मदद से सत्ता में वापसी का योग बन रहा है। वहीं संक्रांति की कुण्डली के दशम भाव में शुक्र किसी बड़ी महिला राजनेता का सरकार को समर्थन देकर सत्ता में महत्वपूर्ण पद पाने का योग बना रहा है।

आँधी तूफान और मॉनसून में होगी देरी : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार वृषभ संक्रांति कुण्डली में जलीय ग्रह चंद्रमा का शनि और मंगल जैसे शुष्क ग्रहों की दृष्टि से पीड़ित होना इस बार मॉनसून में देरी का योग बना रहे हें। इस योग के प्रभाव के चलते 15 मई से 15 जून के बीच गर्मी पिछले कई दशकों का रिकॉर्ड तोड़ देगी।

शेयर बाजार में होगी तेज गिरावट : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार सूर्य के दूसरे घर में गोचर कर रहे मंगल और राहु तथा अष्टम भाव में चल रहे केतु और शनि के कारण बारिश में देरी होगी, जिससे खरीफ की फसलों की बुआई में इस साल देरी होगी। वहीं शनि मंगल के नजदीकी अंशों पर बन रहे समसप्तक योग के कारण शेयर बाजार में तेज गिरावट देखने को मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *