कैमिकल में पके फल बिगाड़ रहे सेहत

 

 

(वाणिज्य ब्यूरो)

सिवनी (साई)। जिला प्रशासन सहित अन्य अधिकारी इस बार गर्मी में लोकसभा निर्वाचन में व्यस्त हैं और इसका फायदा अधिकांश फल विक्रेता पूरी तरह उठा रहे हैं। फल विक्रेताओं के द्वारा रसायनों में पकाये गये फलों को धड़ल्ले से बेचा जा रहा है जिससे लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़े बिना नहीं है।

रसायनों से पके फलों से इस समय बाजार पूरी तरह से पटा हुआ है लेकिन इनकी जाँच कर कार्यवाही करने की कवायद अभी तक खाद्य विभाग ने आरंभ नहीं की है। यह रसायनों से पके फल लोगों की सेहत बिगाड़ते दिख रहे हैं। चमकीले पके हुए फल देखकर लोग अन्जाने में अपनी ही सेहत से खिलवाड़ भी करते दिख रहे हैं। प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को अनदेखी कर धड़ल्ले से इन फलों को बेचा जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर में बिकने वाले केला और आम जैसे फल कार्बाइड रसायन से पकाये जा रहे हैं। बाहर से बुलाये गये कच्चे फलों को फल विक्रेताओं के द्वारा भण्डारित किया जाकर रसायनों के जरिये महज दो तीन दिनों में ही इन्हें पका दिया जा रहा है।

बताया जाता है कि बाज़ार में लगभग हर दुकान पर इन्हीं फलों की बिक्री की जा रही है। पेड़ के पके आम अब तक बाज़ार में नहीं दिखाये दे रहे हैं। जानकारों का कहना है कि संबंधितों की उदासीनता के चलते फल मण्डी और हाथ ठेलों पर बिकने वाले ये फल लोगों के लिये धीमे जहर से कम नहीं हैं।