नगर पालिका कब हटायेगी अतिक्रमण!

 

 

बिना अतिक्रमण हटाये बना दी गयी सड़क!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद की बिगड़ी चाल सुधरने का नाम ही नहीं ले रही है। अतिक्रमण के कैंसर से जूझ रही शहर की सड़कों को व्यवस्थित करने में नगर पालिका परिषद को फुर्सत नहीं मिल पा रही है। ज्यादा शोर शराबा होने पर यदा कदा एकाध दिन के लिये अतिक्रमण विरोधी अभियान चला दिया जाता है।

ज्ञातव्य है कि शहर की मॉडल रोड पर पाँच सालों से ज्यादा समय से अतिक्रमण नहीं हटाये जाने के कारण इस सड़क का काम पूरा नहीं हो पाया है। इस सड़क का काम अभी पूरा नहीं हुआ और पालिका के द्वारा इस सड़क के लिये लिये पूर्णता प्रमाण पत्र (सीसी) जारी कर दिया गया, जो अपने आप में अजूबे से कम नहीं है।

मॉडल रोड निर्माण के दौरान तीन साल पहले महज दो दिन के लिये अतिक्रमण विरोधी अभियान का आगाज किया गया था। भारी पुलिस बल के बीच महज बीस तीस फीट तक ही जेसीबी मशीन के जरिये अतिक्रमण तोड़ने की कार्यवाही की गयी थी। इसके उपरांत यह काम ठण्डे बस्ते के हवाले कर दिया गया था।

इसी तरह कटंगी नाके से गणेश चौक तक के मार्ग के निर्माण के दौरान तत्कालीन जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड के द्वारा इस सड़क से अतिक्रमण हटाये जाने की बात कही गयी थी। इसके बाद उन्हीं के द्वारा अतिक्रमण युक्त सड़क के लिये नाली टू नाली सड़क निर्माण की बात कह दी गयी।

अंततः यह सड़क जब बनी तब न तो इस सड़क से अतिक्रमण हटाया गया और न ही इस सड़क को नाली टू नाली बनाया गया। इस सड़क पर अगर कटंगी नाके से दीवान महल की ओर आया जाये तो पहले सौ, डेढ़ सौ मीटर तक यह सड़क चौड़ी दिखायी देती है उसके बाद यह सड़क एकदम तंग गली में तब्दील हो जाती है।

शहर के अंदर मुख्य मार्ग और अंदरूनी सड़कों पर सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण बजबजा रहा है। लोगों के द्वारा सड़कों पर पक्के निर्माण तक कर लिये गये हैं। अब पालिका के सामने सड़कों को अतिक्रमण मुक्त करवाना बड़ी चुनौति से कम नहीं है। अतिक्रमण के कारण सड़कें बहुत ही संकरी नजर आती हैं।

कुछ साल पहले बड़े मिशन स्कूल के सामने एवं गाँधी भवन के पीछे वाले हिस्से में फैले अतिक्रमण को प्रशासन के द्वारा सख्ती से हटाया गया था। पालिका की कथित अनदेखी के कारण एक बार फिर इस इलाके में अतिक्रमण फैल चुका है। शहर के अंदर सड़कों पर रेत, गिट्टी और अन्य भवन निर्माण सामग्री पसरी देखी जा सकती है।

शहर की फुटकर सब्जी मण्डी, बुधवारी बाजार, दुर्गा चौक, शुक्रवारी बाजार, बस स्टैण्ड, भैरोगंज, बाहुबली चौराहा, गणेश चौक, बरघाट नाका आदि हर क्षेत्र में सड़कों पर दोनों ओर अतिक्रमण के चलते लोगों का चलना मुश्किल हो गया है। आलम यह है कि आये दिन इन सड़कों पर जाम की स्थिति बनी रहती है।