संयुक्त संचालक लगाएंगे प्राचार्यों की क्लास

 

 

 

 

देखेंगे लैब, लाइब्रेरी, टॉयलेट की फोटो

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। दिल्ली मॉडल की तर्ज पर सरकारी स्कूलों को चलाने में अभी देर है लेकिन अपने स्तर शिक्षा विभाग ने स्कूलों के हालात सुधारने की कवायद शुरू कर दी है।

इसी कड़ी में संयुक्त संचालक संभागीय लोक शिक्षण ने एक प्लान बनाया है। जिस पर अमल कर स्कूलों की शैक्षणिक व्यवस्था में कसावट लाने के साथ इंफ्रास्ट्रक्चर में भी सुधार लाने का दावा किया जा रहा है। तय प्लान के तहत संयुक्त संचालक जबलपुर सहित संभाग के सभी 8 जिलों के प्राचार्यों की क्लास लेंगे। खास बात यह है कि प्राचार्यों को स्कूलों में पदस्थ शिक्षकों के आंकड़े सहित पूरी रिपोर्ट के साथ बुलाया गया है। स्कूलों में लैब, लाइब्रेरी, मैदान, टॉयलेट कैसे हैं? यह देखने फोटोग्राफ भी अनिवार्य रूप से लाने कहा गया है।

03 को होगी जिले के 184 प्राचार्यों की बैठक : संयुक्त संचालक संभागीय लोकशिक्षण राजेश तिवारी ने जबलपुर सहित संभाग के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी कर बैठक का एजेंडा भेजा है। तय एजेंडे में 27 मई से जिला वार प्राचार्यों की बैठकों का दौर शुरू होगा, जो 7 जून तक चलेगा। 3 जून को मॉडल स्कूल में जबलपुर जिले के 184 हाई और हायर सेकंडरी स्कूल प्राचार्यों की बैठक लेकर समीक्षा की जाएगी।

सिर्फ प्राचार्यों को आने के निर्देश : संयुक्त संचालक ने चाही गई रिपोर्ट, फोटोग्राफ के साथ सिर्फ प्राचार्यों को ही बैठक में आने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने साफ किया है कि बैठक में प्राचार्य प्रतिनिधि या उनके सहायकों को शामिल नहीं होने दिया जाएगा।

इन विषयों पर होगी चर्चा : बोर्ड परीक्षाओं में 30 प्रतिशत से कम रिजल्ट देने वाले स्कूल प्राचार्यों से वन-टू-वन चर्चा करेंगे। स्कूलों में लैब, लाइब्रेरी, टॉयलेट, बाउंड्रीवॉल, टॉयलेट के फोटोग्राफ देखकर सुधार लाने पर होगी चर्चा। 2020 तक स्कूलों में पदस्थ कितने शिक्षक, व्याख्याता सेवानिवृत्त हो रहे हैं? स्कूलों की शैक्षणिक स्तर बढ़ाने के तरीकों पर दी जाएगी जानकारी।

स्कूलों की शैक्षणिक व अन्य गतिविधियों की जानकारी लेकर उनमें सुधार लाने संभाग के सभी जिलों के स्कूल प्राचार्यों की बैठक बुलाई जा रही है। प्राचार्यों को रिपोर्ट व फोटोग्राफ के साथ आने कहा गया है।

राजेश तिवारी,

संयुक्त संचालक,

संभागीय लोकशिक्षण.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *