गर्मी में आँखों का रखें ख्याल!

 

 

मौसम की तल्खी धीरे – धीरे बढ़ती दिख रही है। गर्मियों के दौरान कंजॅक्टीवाईटिस तथा आँखों की एलर्जी जैसी कई व्याधियां उत्पन्न होती हैं। इनका कारण सूर्य की अत्याधिक रोशनी, दूषित पानी, स्विमिंग पुलों में क्लोरीन या प्रदूषण हो सकता है। कंजॅक्टीवाईटिस की वायरल तथा बैक्टीरियल दोनों किस्में पायी जाती हैं।

जानकारों ने गर्मी के मौसम में आँखों के बचाव की बातें कही है। जानकारों का कहना है कि इनमें हल्की खारिश से लेकर आँखों में लाली तथा पलकों की सूजन तक शामिल है। चिकित्सकों के अनुसार कंजॅक्टीवाईटिस के लक्षणों में आँखों की लाली, अत्याधिक खुजली, आँख से गाढ़े तरल का बहना तथा लगातार पानी आना शामिल हैं। यदि इनमें से आप कोई भी लक्षण देखें तो तुरंत आँखों के विशेषज्ञ चिकित्सक के पास जायें।

रोकथाम के उपाय : अच्छी साफ – सफाई तथा आँखों को साफ पानी से धोना अत्याधिक महत्वपूर्ण है। सनग्लासेज का इस्तेमाल करना मात्र फैशन नहीं है बल्कि यह स्वास्थ्य के लिये एक बुद्धिमान विकल्प है।

जानकार बताते हैं कि सनग्लासेज से आप सूर्य की परा बैंगनी किरणों से बचे रहते हैं। अपनी आँखों को ठण्डे पानी से निरंतर साफ करें, आँखों को मलने से परहेज करें तथा थकी हुई आँखों को आराम देने के लिये खीरे के टुकड़े आँखों पर रखें।

सूर्य की परा बैंगनी किरणों से बचने का सबसे बढ़िया उपाय है कि सनग्लासेज पहने जायें। जानकारों के अनुसार, जो लोग यू.वी. प्रोटेक्टिव कॉन्टेक्ट लैंस पहनते हैं उन्हें भी सनग्लासेज पहनने की जरूरत है जिससे कि लैंस द्वारा कवर न किये जाने वाले आँखों के हिस्सों की भी रक्षा की जा सके। इसके अतिरिक्त भरपूर मात्रा में पानी पीने से भी आँखों को बहुत राहत मिलती है।

(साई फीचर्स)