डीपीआई ने बदले शिक्षकों की परीक्षा के नियम

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा 12 जून को शून्य से 30 प्रतिशत तक परीक्षा परिणाम वाले विषय शिक्षकों की परीक्षा आयोजित की है। शिक्षक संगठनों ने जब इस प्रक्रिया का विरोध किया तो शर्तों में बदलाव कर दिया गया। अब यह ओपन बुक परीक्षा होगी। यानी शिक्षक खुली नकल सकते हैं।

लोक शिक्षण संचालनालय का कहना है कि विगत 3 वर्षों के परीक्षा परिणाम के आधार पर विषयवार शिक्षकों का परफार्मेंस डाटा संग्रहीत किया गया है। डाटा के आधार पर न्यूनतम परीक्षा परिणाम वाले स्कूलों एवं शिक्षकों का चयन किया गया है।

परीक्षा का उद्देश्य शिक्षकों की अध्यापन क्षमता को ऑकलित करना और उन्हें पढ़ाने में आने वाली समस्याओं को जानकर उनके लिए प्रशिक्षण की कार्य-योजना बनाना है। इसके आधार पर शिक्षकों की दक्षता को संवर्धित किया जाएगा ताकि विद्यार्थियों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा प्राप्त हो सके।

शिक्षक पुस्तकों से ही अध्यापन कार्य करते हैं। इसीलिए यह ओपन बुक परीक्षा आयोजित की जा रही है। परीक्षा से शिक्षकों के विषय संबंधित ज्ञान का परीक्षण किया जा रहा है। यह मेमोरी बेस्ड टेस्ट नहीं है।

One thought on “डीपीआई ने बदले शिक्षकों की परीक्षा के नियम

  1. Pingback: buy cvv online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *