परंपरागत उत्साह से मनाया गया ईदुल फितर का त्यौहार

 

 

गले मिलकर दी एक दूसरे को ईद की मुबारक बाद

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। एक माह तक अल्लाह की इबादत के बाद ईदुल फितर का त्यौहार परंपरागत उत्साह के साथ मनाया गया।

शहर के ज्यारत स्थित ईदगाह में बुधवार की सुबह साढ़े आठ बजे शहर काज़ी ने मुस्लिम धर्मावलंबियों को ईद की नमाज़ अदा करायी। नमाज़ अदा करने के बाद सभी ने देश में शांति और अमन चैन के लिये दुआएं माँगी। नमाज़ अदा करने के लिये शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्र से भी बड़ी संख्या में लोग आये थे। शहर की सारी मस्ज़िदों में नमाज़ अदा की गयी।

ईदगाह में लोगों ने गले मिलकर ईद की मुबारकबाद दी। इस अवसर पर लोगों ने कहा कि ईद का त्यौहार आपसी भाईचारा और एकता का प्रतीक है। इस मुबारक अवसर पर सब कुछ भूलकर एक दूसरे के गले मिलना चाहिये। ईद उत्सव ही नहीं इबादत है, यह सीख है।

जानकारों की माने तो जिंदगी की खुशियों को इज़हार करने का दिन ईद है। पैगम्बर हज़रत मोहम्मद साहब ने यह दिन मुकर्रर किये हैं, जिस दिन खुशियों का इज़हार किया जाता है। इसीलिये इसे ईद – उल – फितर कहा जाता है। यह रमज़ान के 30 रोज़े के बाद आती है। इस्लाम धर्म का यह पाक महीना है। नगर पालिका प्रशासन के द्वारा इस बार पीने के पानी के लिये ठण्डे पानी के कैम्पर रखवाये गये थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *