जिले की समस्याएं हल करने प्रतिबद्ध : सांसदद्वय

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिले की समस्याओं को हल करने के लिये हम सघन और सतत प्रयास करेंगे। सिवनी जिले के कार्यकर्त्ताओं ने जिन प्रमुख समस्याओं को मेरे सामने रखा है उन सभी समस्याओं के हल के लिये डॉक्टर बिसेन एवं मैं दोनों ही मिलकर कार्य करेंगे।

उक्त आशय के उदगार गत दिवस भाजपा कार्यालय में केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते एवं सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन के स्वागत सम्मान कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते द्वारा व्यक्त किये गये।

इस अवसर पर बालाघाट सांसद डॉक्टर ढाल सिंह बिसेन ने कहा कि यह सभी समस्याएं मेरे ध्यान में हैं और मेरे कार्यों की प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि सौभाग्य से हमें एक ऐसी सरकार मे प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला है जो लोगों की समस्याओं के समाधान के लिये सजग और संकल्पित है। उन्होंने कहा कि इन सभी कार्यों के लिये जिनका भी सहयोग लेना पड़ेगा मैं कार्य करूंगा। इस जिले को अब पिछड़ेपन से मुक्ति दिलाने के लिये संकल्पबद्ध प्रयासों की जरूरत है।

भाजपा मीडिया प्रभारी श्रीकांत अग्रवाल ने बताया कि स्वागत कार्यक्रम का आरंभ करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेम तिवारी द्वारा एक 08 सूत्रीय माँग पत्र केंद्रीय इस्पात मंत्री श्री कुलस्ते एवं सांसद श्री बिसेन को सौंपा गया।

इसमें उल्लेख किया गया है कि, छिंदवाड़ा सिवनी नैनपुर रेल लाईन के गेज परिवर्तन का कार्य अत्यंत धीमी गति से चल रहा है जिससे जिले का विकास तो प्रभावित हो रहा है। इसलिये इसके लिये उचित बजट के साथ ही निर्माण कार्य मंे आ रही बाधाओं तथा कार्य की धीमी गति मे सुधार के लिये सक्रिय प्रयासों की आवश्यकता है।

माँग पत्र में कहा गया कि इसी तरह रामटेक से गोटेगाँव की बड़ी रेल लाईन भी सिवनी जिले के विकास मे मील का पत्थर साबित होगी किन्तु दुर्भाग्य से इस रेल्वे लाईन का सर्वे हो जाने के वावजूद भी इसके निर्माण हेतु रेल मंत्रालय द्वारा आज तक कोई पहल नहीं की गयी है। यदि सांसद द्वय के प्रयासों से जिले के निवासियों का यह सपना पूरा होता है तो यह रेल लाईन इस जिले के विकास के सभी बंद दरवाजे खोल देगी।

पत्र में उल्लेख किया गया है कि सिवनी जिला मुख्यालय मे जिले की जनसंख्या एवं रेल्वे आवागमन हेतु अवाश्यकता की दृष्टि से यहाँ प्रस्तावित रेल्वे स्टेशन को मॉडल रेल्वे स्टेशन के रूप मे निर्मित कराया जाना आवश्यक है।

पत्र में कहा गया है कि सिवनी जिला पिछड़ा होने के साथ ही यहाँ पर बड़ी संख्या में आदिवासी निवास करते हैं ऐसे में शिक्षा के क्षेत्र में उनको आगे बढ़ाने की दृष्टि से सिवनी जिले में बिरसा मुण्डा यूनिर्वसिटी की स्थापना की जानी चाहिये जिससे जिले के आदिवासियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के साथ ही विकास की मुख्य धारा से जुड़ने का अवसर मिल सकेगा।

इस माँग पत्र में कहा गया कि सिवनी जिले में अकाशवाणी केन्द्र का न होना एक दुःखद बात है। इस हेतु जन प्रतिनिधियों द्वारा अनेकों बार न सिर्फ प्रयास किये गये हैं किन्तु अभी तक इस कार्य में सफलता नहीं मिली है।

पत्र में उल्लेख किया गया कि सिवनी जिला मुख्यालय में स्थित जिला चिकित्सालय परिसर मंे सुपर स्पेशलिटि हेतु एक अतिरिक्त भवन की अत्यंत आवश्यकता है। यदि सांसदों के प्रयासों से इसे स्वीकृति मिलती है तो बड़ी संख्या में लोग लाभान्वित होंगे।

पत्र में कहा गया है कि सिवनी जिला मुख्यालय मंे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इस जिले के लिये मेडिकल कॉलेज के निर्माण की न सिर्फ घोषणा की गयी थी बल्कि बजट मंे राशि का आवंटन भी किया जा चुका था। यही नहीं इसका निर्माण कार्य भी प्रारंभ हो चुका था किन्तु दुर्भाग्य से प्रदेश मे सरकार बदलने के साथ ही इस मेडिकल कॉलेज के निर्माण का कार्य रोक दिया गया है जिससे लोगों में निराशा व रोष व्याप्त हो गया है अतः इस संदर्भ मंे आवश्यक पहल की जाये ताकि इसका निर्माण कार्य प्रारंभ हो सके।

पत्र में कहा गया है कि, सिवनी जिले मंे सभी ब्लॉक मुख्यालयों में केन्द्रीय विद्यालय खोले जाने की अत्यंत आवश्यकता है, क्योंकि शासकीय शिक्षा संस्थानों की कमी की वजह से बड़ी संख्या मंे छात्र – छात्राओं को निजि संस्थानों मंे शिक्षा के लिये जाना पड़ता है एवं भारी भरकम फीस भी उन्हें देनी पड़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *