18 से खुलेंगे सरकारी, निजि स्कूल

 

 

जिला शिक्षा अधिकारी जी.एस. बघेल ने की पुष्टि

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। जिले में ग्रीष्मावकाश के उपरांत शालाओं का संचालन 18 जून से ही किया जायेगा। उक्त आशय के आदेश लोक शिक्षण संचालनालय के द्वारा जारी किये जाने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी गोपाल सिंह बघेल ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि शिक्षक कब से शाला जायेंगे इस बारे में आदेश में कुछ स्पष्ट नहीं किया गया है।

इधर, जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि भीषण गर्मी को देखते हुए लोक शिक्षण संचालनालय ने सरकारी और निजि स्कूलों को 17 जून के बाद ही खोले जाने का आदेश जारी किया है। जिला शिक्षा अधिकारियों को भेजे गये पत्र में लोक शिक्षण संचालनालय कमिश्नर जयश्री कियावत ने दो टूक कहा है कि 17 जून के पहले स्कूल खुलने की शिकायत प्राप्त होती है तो संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी को इसका जवाब देना होगा।

इधर जिला शिक्षा अधिकारी जी.एस. बघेल ने बताया कि उन्हें राज्य शासन का आदेश मिल गया है। उन्होंने इस मामले में संबंधित शालाओं को इस आदेश की प्रति भेज दी है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के लिये 17 जून से पहले स्कूल खोले गये तो ऐसे स्कूलों के प्रबंधन के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।

ज्ञातव्य है कि कि माध्यमिक शिक्षा मण्डल के साथ ही सीबीएसई स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2019 – 2020 में 01 अप्रैल से आरंभ हो चुका है। उसके बाद बाद ग्रीष्म कालीन अवकाश को लेकर मार्च में ही लोक शिक्षण संचालनालय की ओर से आदेश जारी कर दिया गया था।

इस आदेश में कहा गया था कि प्रदेश के सभी स्कूल शिक्षकों के लिये 10 जून और छात्रों के लिये 17 जून से ही अनिवार्य तौर पर खोले जायें। यदि निर्धारित तिथि के पूर्व किसी स्कूल को खोला गया तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी।

10 जून से स्कूल पहुँचेंगे शिक्षक : जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि शिक्षकों के लिये भी 10 जून से ही स्कूल खोले जाने को लेकर आदेश जारी किये गये हैं। सीबीएसई, माध्यमिक शिक्षा मण्डल से संबद्ध सभी शासकीय, अशासकीय, प्राथमिक, माध्यमिक हाई व हायर सेकेण्डरी विद्यालयों में शैक्षणिक एवं अन्य गतिविधियों के लिये 17 जून के पूर्व विद्यार्थियों को न बुलाने की बात कही गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *