कौन सीएस कब हुआ पदस्थ!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिला अस्पताल में किस आदेश के तहत किस चिकित्सक को सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक पदस्थ किया गया है, इस बात की जानकारी किसी के द्वारा सूचना के अधिकार के तहत माँगे जाने से स्वास्थ्य महकमे में हड़कम्प मचा हुआ है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जिला अस्पताल में राज्य शासन के द्वारा सिविल सर्जन की पदस्थापना की जाती रही है। इसके बावजूद भी पूर्व में राज्य शासन के आदेशों को धता बताते हुए स्थानीय स्तर पर ही सिविल सर्जन की तैनाती की जाती रही है।

सूत्रों का कहना है कि देखा जाये तो राज्य शासन के आदेशों की तामीली का काम स्थानीय स्तर पर पदस्थ अधिकारियों का होता है किन्तु जिला स्तर पर तैनात अधिकारियों के द्वारा राज्य शासन के आदेशों को ही गौड़ कर दिया जाता रहा है। इतना ही नहीं सालों पहले जिन चिकित्सकों के तबादले सिवनी से अन्यत्र कर दिये गये थे उन्हें भी कार्यमुक्त नहीं किया गया है। इनमें से कुछ चिकित्सक तो सेवा निवृत्त भी हो चुके हैं।

सूत्रों ने बताया कि जिले में पदस्थ एक चिकित्सक के करीबी माने जाने वाले किसी व्यक्ति के द्वारा सिविल सर्जन कार्यालय से आरटीआई के तहत यह जानकारी चाही गयी है कि जिला अस्पताल में कब-कब किस चिकित्सक को सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक अधीक्षक के रूप में किस अधिकारी के किस आदेश पर पदस्थ किया गया है। इस आरटीआई के लगाये जाने के बाद अस्पताल प्रबंधन अब सकते में दिख रहा है।

सूत्रों ने बताया कि कुछ माह पूर्व से अस्पताल प्रबंधन और एक चिकित्सक के बीच चल रहे अघोषित शीत युद्ध के बीच इस आरटीआई के आने से अब स्वास्थ्य कर्मियों में तरह – तरह की चर्चाओं का दौर आरंभ हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *