अमरनाथ यात्रा : अब पालकी और खच्चर से यात्रा हुई महंगी

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने पालकी, घोड़ा (खच्चर) से यात्रा के किराए की घोषणा कर दी है। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पालकी और घोड़ा की सवारी यात्रा करना महंगा पड़ेगा। हेलीकॉप्टर की यात्रा के बाद पालकी यात्रा में दो हजार व घोड़ा की सवारी यात्रा में 300 रुपए तक की वृद्धि की है।

बोर्ड ने मौसम के चलते यात्रा को लेकर स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा है कि खराब मौसम में भी यात्रा जारी रहेगी। एक जुलाई से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा के लिए प्रदेश के 4000 से अधिक श्रद्धालु रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। ओम शिव शक्ति सेवा मंडल के सचिव रिंकू भटेजा ने बताया कि 01 जुलाई से 15 अगस्त यानि 46 दिनों तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा के लिए श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा खच्चर एवं पालकी की दरों में वृद्घि की गई है। उन्होंने बताया कि श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने इस साल यात्रा परमिट एवं हेलीकॉप्टर के किराए में पहले ही वृद्घि कर चुका है। अब खच्चर एवं पालकी के रेट बढ़ाने से अमरनाथ यात्रियों पर अतिरिक्त वित्तीय भार पड़ेगा।

इन रास्तों से कर सकेंगे बढ़े हुए दामों में यात्रा : खच्चर की दर बालटाल से भवन एवं वापस बालटाल के किराए की दर 4150 रुपए व इसी मार्ग से पालकी का किराया 15 हजार रुपए तय किया गया है। जबकि पिछले वर्ष खच्चर का किराए की दर 3900 रुपए एवं पालकी के किराए की दर 14 हजार रुपए निर्धारित थी।

इसी तरह चंदनबाड़ी से भवन एवं वापस चंदनवाड़ी के खच्चर का किराया 6000 रुपए एवं पालकी के किराए की दर 24 हजार रुपए चुकाना होगा। जबकि पिछले वर्ष खच्चर का किराया 5700 रुपए एवं पालकी का किराए की दर 22 हजार रूपए निर्धारित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *