बस पहाड़ी पार करने वाला था AN-32 विमान

 

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। भारतीय वायु सेना के लापता विमान AN-32 का मलबा जिस जगह से मिला है उसे देखकर जानकारों का अनुमान है कि यह विमान पहाड़ी पार करने से ठीक पहले क्रैश हो गया होगा। मलबे की तलाश के दौरान जो विडियो सामने आया है उसे देखकर लगता है कि विमान यहीं क्रैश हुआ होगा।

माना जा रहा है कि विमान पहाड़ी पार कर लेता लेकिन शायद बादलों की वजह से वह आगे नहीं देख पाया और पहाड़ी से टकराकर क्रैश हो गया। AN-32 का मलबा अरुणाचल के सियांग जिले में मंगलवार को देखा गया था। मलबे की पहली तस्वीर भी सामने आई गई है। फिलहाल, वायुसेना का ध्यान विमान में मौजूद रहे 13 लोगों की वर्तमान स्थिति पता लगाने पर है। दुर्घटना वाला इलाका काफी ऊंचाई पर और घने जंगलों के बीच है, ऐसे में विमान के मलबे तक पहुंचना सबसे चुनौतीपूर्ण काम है।

13 लोगों के साथ AN-32 ने 3 जून को असम के एयरबेस से उड़ान भरी थी और उससे आखिरी संपर्क उसी दिन करीब 1 बजे हुआ था। एयरक्राफ्ट के लापता होने के बाद से ही भारतीय वायुसेना का चॉपर एमआई 17 इलाके की छानबीन में लगा हुआ था।

जहां प्‍लेन क्रैश हुआ वह बेहद रहस्‍यमय इलाका है

अरुणाचल प्रदेश का यह पहाड़ी इलाका बेहद रहस्‍यमय माना जाता है। यहां पहले भी कई बार ऐसे विमानों का मलबा मिला है, जो दूसरे विश्व युद्ध के दौरान लापता हो गए थे। अलग-अलग रिसर्च के मुताबिक, इस इलाके के आसमान में बहुत ज्यादा टर्बुलेंस और 100 मील/घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा यहां की घाटियों के संपर्क में आने पर ऐसी स्थितियां बनाती हैं कि यहां उड़ान बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *