चार हजार करोड़ निवेश करेंगी छह कंपनियां

 

 

 

 

 

साढ़े सात हजार लोगों को रोजगार मिलेगा

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। प्रदेश के रायसेन, धार, सतना और दमोह में छह कंपनियां चार हजार करोड़ रुपए का निवेश करेंगी। इससे साढ़े सात हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

बुधवार को मंत्रालय में निवेश प्रोत्साहन संबंधी कैबिनेट कमेटी ने निवेश संबंधी प्रस्तावों को मंजूरी दी है। प्रदेश में पहली बार सात निवेशकों के छह प्रस्तावों को सात दिन में मंजूरी दी गई है। कमेटी की बैठक मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में हुई। इसमें उन्होंने कहा कि मध्यी प्रदेश में निवेशकों का विश्वास लौटाना बड़ी चुनौती है। इसके लिए पूरी कार्य संस्कृति को मित्रवत और सहयोगी बनाना होगा।

नाथ ने टेक्सटाइल, फार्मास्युटिकल, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस जैसे क्षेत्रों में निवेश और रोजगार की व्यापक संभावनाएं बताते हुए कहा कि प्रदेश में रोजगार व आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने वाले निवेश को प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्हें बेहतर एवं आधुनिकतम सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

उन्होंने कहा कि निवेश नीति को उन क्षेत्रों पर केंद्रित करेंगे, जहां रोजगार अधिक है और आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पहले से जारी निवेश को भी बढ़ावा देने को कहा। उन्होंने कहा कि पिछले 15 साल में निवेशकों का विश्वास घटा है। नाथ ने उद्योग विभाग के अफसरों से कहा कि झूठे प्रचार से बचें और ऐसा माहौल बनाएं, जिससे निवेश आकर्षित हों। जिन प्रदेशों में स्वतः निवेश आकर्षित हो रहा है।

नाथ ने उनकी बेस्ट प्रैक्टिसेज का अध्ययन कर अपनाने के साथ निवेश संबंधी प्रस्तावों पर माह में एक बार नियमित रूप से बैठक करने को कहा है। इस बैठक में मंजूर किए गए और मंजूरी के लिए प्राप्त प्रस्तावों की समीक्षा की जाएगी। इस दौरान नीतिगत और व्यवस्थागत समस्याओं का निराकरण भी किया जाएगा।

सीएम ने प्रदेश में टेक्सटाइल क्षेत्र में अपार संभावनाओं को देखते हुए बड़ी टेक्सटाइल कंपनियों पर ध्यान देने को कहा है। उन्होंने बैठक में ही टेक्सटाइल उद्योग से जुड़े बड़े उद्योगपतियों से चर्चा कर उन्हें प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया है। बैठक में वित्तमंत्री तरुण भनोत, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री जयवर्धन सिंह, मुख्य सचिव एसआर मोहंती, उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव राजेश राजौरा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

इन कंपनियों के निवेश के प्रस्तावों को मंजूरी : मेसर्स स्प्रिंगवे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड – मंडीदीप में 1400 करोड़। मेसर्स प्रोक्टर एंड गेम्बल होम प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड – हटा (दमोह) में 500 करोड़। मेसर्स आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट प्राइवेट लिमिटेड – सतना में 125 करोड़। मेसर्स एचईजी लिमिटेड – मंडीदीप में 1200 करोड़। मेसर्स श्रीराम पिस्टन एंड रिंग्स लिमिटेड – पीथमपुर (धार) में 600 करोड़। मेसर्स वंडर सीमेंट लिमिटेड – खेरबास (धार) में 200 करोड़।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *