कलेक्टर ने किया बाम्हनदेही, आमगांव, दुधिया रोपणी का निरीक्षण

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। कलेक्टर प्रवीण सिंह द्वारा गुरूवार को जिले की बाम्हनदेही, आमगांव एवं दुधिया रोपणी का निरीक्षण किया गया।

इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमति मंजुषा राय, वन विभाग के अनुसंधान एवं विस्तार वृत्त सिवनी के अधिकारी प्रदीप कुमार खत्री की उपस्थिति रही। कलेक्टर प्रवीण सिंह ने रोपणी में रोपण हेतु तैयार किये गये पौधों तथा बीज से पौधे तैयार करने की नवीन तकनीकों तथा उनके संरक्षण की विधि का अवलोकन किया।

उन्होने बांस के राईजोम तथा सागौन के रूटशूट प्रणाली तथा रोपणी के व्यवस्थित रूप से संचालन एवं सामान्य रूप रोपणी में विकसित किये जाने वाले पौधों के साथ ही औषधि एवं दुर्लभ प्रकार के पौधे की अच्छी संख्या उपलब्धता पर प्रबंधन की सराहना की।

इस संबंध में अनुसंधान एवं विस्तार वृत्त सिवनी के अधिकारी प्रदीप कुमार खत्री द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया कि सिवनी जिले में कुल 11 रोपणी क्रमशः बाम्हनदेही भाग – 1, भाग – 2, आमगांव, नान्हीकन्हार, दुधिया, सोनखार, खैरी, नांदी, बंजारी, कसई एवं शिकारा है।

इसमें वर्तमान में कुल 3 लाख 49 हजार 26 पॉलिथीन पौधे उपलब्ध है। जिसमें फलदार प्रजाति के आम, जामुन, कठहल, इमली, अनार, खिरनी, अमरूद, के पौधों के साथ ही औषधि प्रजातियों के कुल्लू, अर्जुन, गडमार, आंवला, हर्रा, बहेड़ा एवं नीम उपलब्ध है। शोभादार प्रजाति में अमलतास, कचनार, बोगन बेलिया, अशोक, गुलमोहर, पेल्ट्राफार्म के पौधे हैं।

उन्होंने बताया कि अनुसंधान एवं विस्तार वृत्त सिवनी की रोपणियों में वानिकी प्रजाति के दुर्लभ संकटापन्न कई प्रजातियों का विकास किया गया है। जैसे कोसम, बीजा, शीशम, हल्दू, केम, चलता बंगाली, डेलेनिया इण्डिका (हाथी सेवा) आदि जो अपने आप में महत्वपूर्ण हैं तथा उक्त दुर्लभ प्रजाति के पौधों के विकास में अनुसंधान एवं विस्तार वृत्त सिवनी प्रदेश में सबसे अग्रणी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *