किसानों के आक्रोश का सामना कर रहे अधिकारी!

 

 

0 कंपनियों के ब्रांड एंबेसेडर बने . . . 05

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। आदिवासी योजना के तहत किसानों को मिलने वाली मोटर और पाईप को एक कंपनी विशेष का प्रदाय करने हेतु जिले के काँग्रेसी विधायकों के द्वारा लिखे गये पत्र के बाद अब अधिकारियों को किसानों के आक्रोश का सामाना करना पड़ रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार लखनादौन जनपद क्षेत्र में 225 गरीब आदिवासी किसान का चयन इस योजना के लिये किया गया था। विधायकों के पत्र के बाद अधिकारी जब क्षेत्र के बेलखेड़ी, भरगा और मढ़ी ग्राम पहुँचे तो उन्हें किसान हितग्राहियों के रोष और असंतोष का सामना करना पड़ा।

बताया जाता है कि इन तीनों ग्रामों के किसानों के द्वारा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आधार सिंह कुशराम की उपस्थिति में एमपी एग्रो के अधिकारियों से इन कंपनी विशेष की सामग्री लेने से इंकार कर दिया गया। ग्रामीणों के द्वारा इंकार किये जाने के बाद अफसर यहाँ से बैरंग लोट गये।

जनपद पंचायत घंसौर के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जनपद पंचायत घंसौर के 45 हितग्राहियों का चयन इस योजना के तहत किया गया था। किसानों ने बताया कि उनके खातों में तीस-तीस हजार रूपये की राशि जमा करवा दी गयी थी। सूत्रों ने बताया कि जनपद पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऊषा किरण गुप्ता की लापरवाही की वजह से इन किसानों के खातों में होल्ड नहीं लगाये जाने से इनके खातों से राशि वापस एमपी एग्रो के द्वारा निकाल ली गयी।

इधर, जनपद पंचायत छपारा के सूत्रों का कहना है कि क्षेत्र के 43 किसानों का चयन हुआ था। इनमें से 35 हितग्राहियों को एमपी एग्रो के द्वारा किसानों की मंशा के विपरीत कंपनी विशेष की मोटर और पाईप प्रदाय कर दिया गया है। केवलारी जनपद पंचायत की अगर बात की जाये तो केवलारी में पात्र पाये गये 80 हितग्राहियों में से 70 हितग्राहियों को कंपनी विशेष की मोटर और पाईप प्रदाय कर दिये गये हैं।

इसके अलावा जनपद पंचायत कुरई में 90 हितग्राहियों को पात्र पाया गया था, जिसमें से 48 हितग्राहियों को कंपनी विशेष की सामग्री प्रदाय कर दी गयी है। इसी तरह बरघाट जनपद पंचायत के दस हितग्राहियों को भी सामग्री प्रदाय करने की खबरें हैं।

किसानों के हितों से सीधे जुड़े मामले में काँग्रेस के लखनादौन विधायक योगेंद्र सिंह और बरघाट विधायक अर्जुन सिंह काकोड़िया के द्वारा वरूणा कंपनी की मोटर और कोठारी कंपनी के पाईप किसानों को प्रदाय किये जाने के मामले में अब भाजपा के द्वारा इस मामले को हवा देने की तैयारी की जा रही है।

सियासी हल्कों में चल रहीं चर्चाओं के अनुसार इस मामले को केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के द्वारा भी गंभीरता से लिया गया है, वहीं केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह और सिवनी विधायक दिनेश राय के द्वारा इस मामले को विधान सभा के अगले सत्र में उठाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *