05 जून रहा सीजन का सबसे गर्म दिन!

 

 

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। ग्रीष्म ऋतु समाप्त हो चुकी है। हालांकि मौसम विभाग के सूत्रों की माने तो गर्मी से निजात मिलने के आसार अभी नज़र नहीं आ रहे हैं। उल्लेखनीय होगा कि भारत में ग्रीष्म काल की अवधि 15 जून तक मानी जाती रही है।

इस बार भी अधिकतम तापमान ने अप्रैल के महीने में ही 40 डिग्री सेल्सियस के आँकड़े को स्पर्श कर लिया था। 30 अप्रैल को अधिकतम तापमान 43.4 डिग्री सेल्सियस के अंक को स्पर्श कर लिया था। उसके बाद मई के महीने में भी अधिकतम तापमान इसके आसपास ही घूमता रहा।

25 मई से नौतपा आरंभ हुए थे। नौतपा के दौरान 27 एवं 28 मई को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस रहा था। लोगों को लगने लगा था कि सिवनी में नौतपा की अवधि में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को भी स्पर्श कर सकता है लेकिन तभी 30 मई को हुई बारिश ने बढ़ते तापमान पर ब्रेक लगा दिया था। भू अभिलेख से राकेश विश्वकर्मा ने अधिकृत जानकारी देते हुए बताया कि 30 मई को 4.4 मिली मीटर बारिश दर्ज की गयी थी।

इस बारिश के बाद आसमान पर बादलों की उपस्थिति ने अधिकतम तापमान पर अंकुश लगाने का प्रयास किया और अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से कुछ नीचे आ गया। लोगों के द्वारा जब अनुमान लगाया जा रहा था कि नौतपा के बाद अधिकतम तापमान में राहत मिलेगी लेकिन तभी 05 जून को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस को पार करता हुआ 44.4 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुँचा और लोग भीषण गर्मी से हलाकान हो गये।

इसके बाद 06 जून को भी अधिकतम तापमान 44 डिग्री से ऊपर जरूर गया लेकिन यह 44.2 डिग्री सेल्सियस पर जाकर रूक गया। बारिश के बाद तेजी से बढ़े तापमान के कारण बीमारियों ने अपने पैर पसारे और स्वास्थ्य केन्द्रों में पहुँचने वाले मरीज़ो की तादाद में तेजी से इजाफा देखा जाने लगा।

लू लगने की शिकायत के साथ ही साथ, नागरिक पेट की बीमारियों से ज्यादा परेशान देखे गये और इनमें भी उल्टी दस्त के मरीज़ ज्यादा शामिल रहे। भीषण गर्मी के साथ फैली उमस के बीच कूलर व एसी भी पर्याप्त राहत देने में नाकाम होते नज़र आये। अधिकतम तापमान 14 जून तक 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर ही विचरण करता रहा और लोग भीषण गर्मी के कारण परेशान होते रहे।

15 और 16 जून को दोपहर बाद आसमान पर आने वाले बादलों ने सूरज की तपन से राहत दिलाने का काम किया। कहीं – कहीं हल्की बूंदाबांदी के साथ हुई बारिश के कारण लोगों के चेहरे खिल उठे। किसानों ने भी अब अपने – अपने खेतों में सक्रियता बढ़ा दी है। मौसम विभाग के सूत्रों की मानें तो 23 जून के आसपास मॉनसून अपनी आमद सिवनी में दे सकता है। आने वाले दिनों में अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रह सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *