गर्मी से राहत, उमस कर रही हलाकान

 

 

मौसम के बदलाव से बढ़ा संक्रमण का खतरा

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। कहर बरपा रही गर्म हवाओं के कस बल प्री मॉनसून रेन्स के चलते ढीले तो हो गये, पर रूक – रूक कर हो रही बारिश के कारण उमस लोगों की दुश्वारियां बढ़ा रही है। दूबरे पर दो अषाढ़ की तर्ज पर दिन में उमस के बीच बिजली की आपूर्ति बाधित होने से लोग हलाकान ही नज़र आ रहे हैं।

तीन चार दिनों से मौसम में बदलाव महसूस किया जा रहा है। प्री मॉनूसन रेन्स और आसमान पर बादलों की आवाजाही के चलते गर्म हवाओं और तपन से निजात तो मिली है पर हवाओं के न चलने से अब उमस के कारण लोग पसीने से सराबोर नज़र आ रहे हैं।

मौसम के पूर्वानुमान के हिसाब से मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि आने वाले मंगलवार से ब्रहस्पतिवार तक दिन में अधिकतम तापमान 35 से 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास बने रहने की उम्मीद है। वहीं न्यूनतम तापमान 26 से 27 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार से तापमान में उछाल एक बार फिर दर्ज किया जा सकता है और रविवार को पारा एक बार फिर 40 डिग्री सेल्सियस को स्पर्श कर सकता है।

इसके अलावा चिकित्सकों के अनुसार तेज गर्मी के दिनों से ज्यादा उमस वाली गर्मी से लोग ज्यादा बीमार होते हैं। इस तरह के मौसम में संक्रमण का खतरा और बढ़ जाता है। उल्टी दस्त और पेट दर्द के मरीज़ों की संख्या में इज़ाफा होता है। शनिवार से ही अस्पताल में उल्टी दस्त और पेट दर्द से संबंधित मरीज़ों की संख्या में वृद्धि देखी जा रही है।

चिकित्सकों के अनुसार मौसम में बदलाव के समय लोगों को खान पान का विशेष ध्यान रखना चाहिये। खान पान में लापरवाही के चलते फूड पायज़निंग की समस्या से दो चार होना पड़ सकता है। साथ ही बारिश के दिनों में पानी की शुद्धता को देखना बहुत जरूरी है।

चिकित्सकों ने सलाह दी है कि भोजन को सुरक्षित रखें, ताजा भोजन करें और पर्याप्त आँच और तापमान पर भोजन में मौजूद सभी बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। इसके अलावा पके हुए भोजन को कच्चे फल, सब्जियां या कच्चे भोजन पास न रखें, अन्यथा पके हुए भोजन में भी बैक्टीरिया पहुँच सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *