बजने लगे काँग्रेस के अंदर बर्तन!

 

 

पत्रकार वार्ता किसकी, इसको लेकर बना रहा भ्रम!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। सत्ता में वापस लौटी काँग्रेस के जिला स्तरीय संगठन में सब कुछ सामान्य नहीं चल रहा है। काँग्रेस के जिला स्तरीय क्षत्रपों के बीच वर्चस्व की अघोषित जंग चलती दिख रही है। प्रदेश सरकार के छः माह पूरे होने पर आयोजित पत्रकार वार्ता को कौन संबोधित करेगा, इसे लेकर भ्रम की स्थिति बनी रही।

दरअसल, रविवार को जिला काँग्रेस द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री कमल नाथ के नेत्तृत्व वाली सरकार के छः माह पूरे होने पर सरकार की उपलब्धियों का बखान करने के लिये एक पत्रकार वार्ता का आयोजन जिला काँग्रेस कमेटी कार्यालय में किए जाने की बात कही गयी थी। इस विज्ञप्ति में काँग्रेस के जिला स्तरीय स्थापित क्षत्रपों के नामों का उल्लेख भी नहीं किया गया था।

वहीं, सोमवार को सुबह सोशल मीडिया पर काँग्रेस की प्रदेश सरकार के छः माह के कार्यकाल की उपलब्धियों को जनता के समक्ष रखने के लिये जिलावार प्रभारियों की नियुक्ति की एक सूची डाले जाने से असमंजस की स्थिति बन गयी। पत्रकार असमंजस में रहे कि पत्रकार वार्ता का आयोजन राज कुमार खुराना के द्वारा किया जा रहा था या पूर्व विधायक रजनीश सिंह के द्वारा, क्योंकि इस सूची में रजनीश सिंह के नाम का उल्लेख सिवनी के लिये किया गया था।

यह सूची अधिकृत थी अथवा मनगढ़ंत, इस बारे में जानकारी के लिये कुछ लोगों के द्वारा सोशल मीडिया पर प्रश्न भी किये गये किन्तु किसी के भी द्वारा इस मामले में यह स्पष्ट नहीं किया गया कि यह पत्रकार वार्ता दरअसल कौन सा नेता संबोधित करने वाला था, या नेताद्वय ही इस पत्रकार वार्ता को संबोधित करते!

बहरहाल, दोपहर लगभग डेढ़ बजे के बाद चुनिंदा पत्रकारों के पास केवलारी के पूर्व विधायक ठाकुर रजनीश सिंह का फोन पहुँचा और उनके द्वारा पत्रकारों को शाम चार बजे जिला काँग्रेस कमेटी में प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को लेकर पत्रकार वार्ता के संबंध में जानकारी दी गयी। रजनीश सिंह से जब यह पूछा गया कि इस पत्रकार वार्ता को कौन संबोधित करेगा! इसके जवाब में उनके द्वारा कहा गया कि प्रदेश काँग्रेस कमेटी के द्वारा उन्हें (ठाकुर रजनीश सिंह को) पत्रकार वार्ता के लिये अधिकृत किया गया है।

इस संबंध में जिला काँग्रेस कमेटी के प्रवक्ता राजिक अकील ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि उनके द्वारा जिला काँग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज कुमार खुराना से इस संबंध में चर्चा की थी, पर राज कुमार खुराना के द्वारा उन्हें यही बताया गया कि प्रदेश काँग्रेस की ओर से जिला काँग्रेस कमेटी को इस पत्रकार वार्ता के लिये किसी को अधिकृत करने की जानकारी नहीं दी गयी थी।

सोमवार को हुए इस नाटकीय घटनाक्रम के उपरांत जिले के काँग्रेस के कार्यकर्त्ताओें के बीच चर्चाओं का बाजार गर्मा गया। कार्यकर्त्ताओं के बीच चल रहीं चर्चाओं के अनुसार डेढ़ दशक के बाद प्रदेश में सत्तारूढ़ हुई काँग्रेस के जिला स्तरीय क्षत्रपों के बीच वर्चस्व की जंग का आगाज़ हो चुका है।

चर्चाओं के अनुसार जिले में दो विधायक योगेंद्र सिंह (जो दूसरी बार विधायक बने हैं) एवं अर्जुन सिंह काकोड़िया के होते हुए पराजित विधायक रजनीश हरवंश सिंह को प्रदेश काँग्रेस के द्वारा पत्रकार वार्ता के लिये अधिकृत क्यों किया गया!

वहीं, काँग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि जिला काँग्रेस कमेटी के द्वारा वरिष्ठ और स्थापित नेताओं के नाम भी पत्रकार वार्ता में शामिल नहीं किये गये हैं, जो इसका सबसे आश्चर्यजनक पहलू है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *