इस बार चंद्र ग्रहण होगा गुरू पूर्णिमा पर

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। इस साल 16 जुलाई को गुरू पूर्णिमा का पर्व मनाया जायेगा। 16 जुलाई को ही चंद्र ग्रहण होगा। चंद्र ग्रहण के चलते चार राशियों पर इसका शुभ प्रभाव देखने को मिल सकता है।

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक गुरु पूर्णिमा का पर्व इस साल 16 जुलाई को मनाया जायेगा। इसी दिन चंद्र ग्रहण भी पड़ेगा। सुबह मंदिरों, आश्रमों, शिक्षा और कला के संस्थानों में शिष्य अपने गुरुओं के दर्शन – पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त करेंगे। शाम साढ़े 04 बजे से चंद्र ग्रहण का सूतक लग जायेगा। मंदिरों के पट बंद हो जायेंगे। चंद्र ग्रहण के दौरान लोग रात्रि जागरण और मंत्रों का जाप करेंगे।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा और उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में चंद्र ग्रहण दिखायी देगा। वर्ष 2019 में भारत में दो ही ग्रहण दिखायी देंगे। यह पहला और अंतिम चंद्र ग्रहण होगा, जो भारत में तीन घण्टे तक रहेगा। इस ग्रहण का प्रभाव चार राशियों के जातकों पर शुभ और अन्य राशि के जातकों पर मिश्रित और अशुभ प्रभाव पड़ेगा।

शिष्य करेंगे पादुका पूजन : ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक गुरु पूर्णिमा पर आश्रमों में गुरु के पादुका पूजन और दर्शन कर लोग पुण्य अर्जित करेंगे। सामान्य तौर पर गुरु पूर्णिमा की शाम सांस्कृतिक कार्यक्रम और भण्डारों का आयोजन किया जाता है लेकिन, इस पर शाम को ही मंदिरों के पट बंद हो जायेंगे।

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक शाम 04.31 बजे चंद्र ग्रहण का सूतक लग जायेगा। ग्रहण के सूतक काल से मोक्ष होने तक कुछ ग्रहण और शयन नहीं करना चाहिये। बालकों, वृद्ध और बीमार लोगों के लिये सूतक काल में एक प्रहर की छूट होती है। ऐसे लोगों को रात साढ़े 10 बजे ग्रहण के नियम का पालन करना चाहिये।

चंद्र ग्रहण की स्थिति : स्पर्श : रात 1.31 बजे, मध्य : रात 03 बजे, मोक्ष : रात साढ़े 04 बजे, सूतक : शाम 04.31 बजे से होगा।

राशियों पर प्रभाव : शुभ प्रभाव : कर्क तुला, कुम्भ, मीन राशि पर, मिश्रित प्रभाव : मेष, मिथुन, सिंह और वृश्चिक राशि पर एवं अशुभ प्रभाव : वृष, कन्या, धनु, मकर राशि पर हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *