कर्ज के मामले में हो रहा घालमेल

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

धूमा (साई)। प्रदेश सरकार ने किसान का 2 लाख रुपए तक का कर्ज माफ कर रही है। वहीं घूरवाड़ा के किसान ने 7750 रुपए का कर्ज लिया था। इसमें से सिर्फ 3513 रुपए का कर्ज माफ हुआ है। इसमें भी समिति ने 3253 रुपए का कर्ज माफ होने का समायोजन किया है। अब किसान के ऊपर कर्ज की राशि शेष बताकर समिति खाद नहीं दे रही है।

घूरवाड़ा के किसान आनंद दास पिता अगड़दास ने शिकायत में बताया है कि उसने सेवा सहकारी समिति धूमा से मात्र 7750 रुपए का कर्ज लिया था। जहाँ सरकार 2 लाख रुपए तक का कर्ज माफ कर रही है। वहीं उसका 7750 रुपए का कर्ज माफ नहीं किया गया है।

गत दिवस आयोजित हुए शिविर में उसे मात्र 3513 रुपए की कर्ज माफी का प्रमाण पत्र दिया गया है। इधर समिति ने 3513 के स्थान पर 3253 रुपए की कर्ज की राशि में समायोजित की है। माफ हुई कर्ज की राशि में ही 340 रुपए का अंतर आ गया है। किसान ने बताया है कि अब उसे समिति खाद के लिये भटका रही है।

समिति प्रबंधक का कहना है कि जिन किसानों का कर्ज बकाया है उसे कर्ज चुकाने के बाद ही खाद दी जायेगी। वर्तमान में उसे खाद की आवश्यकता है लेकिन समिति कर्ज बकाया राशि चुकाने के बाद ही खाद देने की बात कर रही है इससे वह खासा परेशान हो गया है। किसान ने अधिकारियों से इस ओर ध्यान देने की माँग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *