सरकारी सिस्टम का जरूरी हिस्सा बनेगा वाटर हार्वेस्टिंग

 

 

सिवनी में नहीं करा पाए पर जबलपुर में इसे लागू करवा रहे भरत यादव!

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। सिवनी में पदस्थ रहे जिलाधिकारी भरत यादव के द्वारा सिवनी में सरकारी कार्यालयों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग को भले ही लागू नहीं करवा पाया गया हो पर अब जबलपुर जिलाधिकारी के रूप में उनके द्वारा इसे जबलपुर में लागू करवाया जा रहा है।

ज्ञातव्य है कि भरत यादव जब सिवनी में जिलाधिकारी के रूप में पदस्थ थे, तब समाचार एजंेंसी ऑफ इंडिया और दैनिक हिन्द गजट के द्वारा खबरों के जरिए बारंबार भरत यादव का ध्यानाकर्षण कराया गया था कि गिरते भूजल स्तर के चलते सिवनी में रेन वाटर हार्वेस्टिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए एवं इसकी शुरूआत सरकारी भवनों से की जाए।

गर्मी सीजन में तेजी से गिरे भूजल स्तर ने खतरे की घंटी बजा दी है। ऐसे में वर्षा जल को सहेजकर भूगर्भ में पहुंचाने को लेकर पर्यावरण प्रेमी आवाज उठा रहे हैं। सभी शासकीय कार्यालयों में वाटर हार्वेस्टिंग संरचना विकसित करने के लिए जिला प्रशासन ने विभाग प्रमुखों को सर्कु लर जारी कर दिया है।

जिला कलेक्टर भरत यादव ने स्पष्ट किया है कि रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के जरिए भू जलस्तर बढ़ाने के लिए अविलम्ब आवश्यक कदम उठाएं। उन्होंने केंद्रीय व प्रदेश शासन के सभी विभागों को इस पर गम्भीरता से अमल करने निर्देशित किया है। अब इसे लेकर कार्यालय प्रमुखों की जिम्मेदारी बढ़ गई है।

निर्देश पर पालन की होगी समीक्षा : कलेक्टर ने विभाग प्रमुखों को पत्र भी लिखा है। इसमें कहा है कि रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के लिए परम्परागत तकनीक को अपनाकर वर्षा जल को चालू या बंद नलकूप में छोड़ा जा सकता है। आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर वर्षा जल का संग्रहण कर भू जल स्तर को बरकरार रखने में सहयोग किया जा सकता है। उन्होंने इसके लिए नगर निगम की भवन शाखा से सम्पर्क करने के लिए कहा है। निजी भवन मालिकों को भी भू जल सम्वर्धन में योगदान देने कहा गया है। कलेक्टर ने कहा कि समीक्षा बैठकों के दौरान वे भू-जल संवर्धन की दिशा में विभागों के कार्यों की समीक्षा भी करेंगे।

ठेकेदारों की ली जाएगी मदद : वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम विकसित करने के लिए जिला प्रशासन विकास कार्यों में संलग्न ठेकेदारों की भी मदद लेगा। इसके लिए कार्पाेरेट रेस्पॉंसबिल्टी सर्विस (सीएसआर) का भी उपयोग किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *