अपने पालक पर ही जमकर बरसे सिवनी विधायक!

 

 

मुख्यमंत्री पर लगाये सिवनी के साथ अन्याय करने के आरोप

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सिवनी के भाजपाई विधायक दिनेश राय कभी मुख्यमंत्री कमल नाथ को अपना पालक निरूपित करते हैं तो कभी उनके नेत्तृत्व वाली सरकार पर जमकर बरसते दिखते हैं। दिनेश राय के कदमताल से सियासी जानकार भी असमंजस में ही नज़र आ रहे हैं।

दिनेश राय की ईमेल आईडी से जारी विज्ञप्ति के अनुसार सदन में शून्यकाल में सिवनी विधायक दिनेश राय ने कहा कि गत दिवस जो बजट पेश किया गया उससे ऐसा लग रहा था कि वित्त मंत्री सिर्फ भाषण देकर अपना समय व्यतीत कर खानापूर्ति कर रहे हैं।

विज्ञप्ति के अनुसार दिनेश राय ने कहा कि निर्दलीय विधायक रहते हुए उन्होंने 05 बजट देखे हैं लेकिन सिवनी जिले की इतनी दुर्गती नहीं देखी, जितनी इस बार के बजट में दिखायी दे रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा सिवनी के साथ विश्वासघात किया गया है।

श्री राय ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार का पहला बजट वित्तमंत्री द्वारा प्रस्तुत किया गया, जिसे सुनने और देखने में पता नहीं क्यों मजाक सा लग रहा था। बजट में कौन सी विशेषता है जिसकी वजह से वे या उनके साथी आभार व्यक्त करें। मैं कहना चाहता हूँ आप मेरे पड़ौसी जिले के रहने वाले हैं और मुख्यमंत्री भी पड़ौसी जिले के हैं इस बजट से ऐसा प्रतीत होता है कि जब हम बेटी या बेटे की शादी करने किसी परिवार में जायंे, उस परिवार के बारे में पता करना होता है। तो सबसे पहले व्यक्ति पड़ौसी से पूछता है कि भैया इनका व्यवहार कैसा है, जब पता चलता है कि इनके पड़ौसी का व्यवहार ठीक नहीं है निश्चित ही लड़के, लड़की की उस घर परिवार में व्यवहार अच्छा नहीं होगा। बजट में वित्त मंत्री, मुख्यमंत्री ने पड़ौसी सिवनी के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया और सौतेला व्यवहार किया है। प्रदेश की लक्ष्मी आपके हाथ में आयी है हम उम्मीद करते हैं कि पूरे जिलों में भी आप लक्ष्मी बांटेंगे।

विधान सभा में सिवनी विधायक दिनेश राय मुनमुन अपने भाषण मंे आगे कहा कि मिले मिलाये मेडिकल कॉलेज़ के लिये आपने बजट में राशि नहीं दी। हमारे जिले में संभाग के लिये बजट में कोई ऐसी स्थिति नहीं है, कुछ विभागों को थोड़ी – थोड़ी राशि देकर सिवनी जिले के साथ खानापूर्ति की गयी है। क्या आप सिवनी जिले से टैक्स नहीं लेगें। पहले ही डीज़ल – पेट्रोल में इतना टैक्स बढ़ाते समय यह भी नहीं देखा कि जो किसान खेती करेगा उसे डीज़ल का पैसा कौन देगा। वह गरीब जो प्रधानमंत्री आवास योजना में अपना आवास बनाने वाला है उसको भी डीज़ल खरीदना पड़ेगा। आपकी नीति, रीति, सोच में कहीं न कहीं अंतर है। आपसे आग्रह है डीज़ल पेट्रोल के रेट बड़े लोगों के लिये बढ़ाईये और गरीबों – किसानों के लिये तो कम से कम छूट दीजिये।

जारी सत्र के दौरान श्री राय ने आगे कहा कि हमारा किसान 02 लाख के झमेले में आज भी पछता एवं लाईट को लेकर रो रहा है जब देखो लाईट कट रही है। उन्होंने कहा कि आप कर्ज माफी की बात करते हैं जबकि आज भी किसानों को राशि प्राप्त नहीं हुई है। किसानों के बिजली बिल माफ करने की बात की जा रही है हमारे यहाँ जनता चिल्लाती है काँग्रेस आयी लाईट गयी। आप बड़ी – बड़ी योजनाओं की बात कर रहे हैं कम से कम मूलभूत सुविधाएं किसानों के हित में करते हुए कर्ज माफ करंे। यदि आप सभी किसानों का 02 लाख रूपये का कर्जा माफ कर दें आप बधाई के पात्र हो जायेंगे। यदि नहीं तो कोई किसान आने वाले समय में आप लोगों को दोबारा ऐसा मौका नहीं देगा कि आप दोबारा उनसे कोई वायदा कर सकें। हमारे यहाँ व्यपवर्तन नहर का कार्य बड़ी तीव्र गति से चल रहा था लेकिन 06 महिनों में पता नहीं क्यों ग्रहण लग गया। 05 हेक्टेयर भूमि सिंचित करने के लिये लिफ्ट एरिगेशन योजना की लगभग सभी खानापूर्ति हो चुकी थी और उम्मीद थी नयी सरकार जैसे ही आयेगी तत्काल काम आरंभ हो जायेगा। अध्यक्ष से उन्होंने कहा कि बड़े दुःख के साथ कहना पड़ता है कि कहते हैं किसान हितैषी सरकार है उस योजना को भी कैंसिल करके छिंदवाड़ा में ले गये। श्री राय ने कहा कि पूरा मध्य प्रदेश आपका है सिर्फ छिंदवाड़ा ही अकेला आपका मध्य प्रदेश नहीं है। बजट की अधिकांश राशि छिंदवाड़ा के लिये खर्च करना चाहते हैं सच्चा जन प्रतिनिधि वह है जिसकी ड्यूटी, कर्त्तव्य बनता है कि प्रत्येक गाँव, शहर, जिले का काम करें लेकिन आपने कहीं न कहीं यह मान लिया है हम सिर्फ अपने जिले का विकास करना चाहते हैं।

श्री राय ने कहा कि चुुनाव के दौरान मुख्यमंत्री प्रचार के लिये सिवनी विधानसभा आये थे तो उन्होंने कहा था कि हमारा विधायक जिताओं, लालमाटी को पानी देंगे। इसके बाद बरघाट, केवलारी में भी वही कहा और लखनादौन को गोद ले लिया। मैं कहना चाहता हूँ जहाँ भाजपा के विधायक आ गये है तो इस योजना को बताये कैसे देंगे। आखिर पानी तो सिवनी विधानसभा के ऊपर से ही जाना है लेकिन कहीं न कहीं मैं कह सकता हूँ कि सिवनी विधानसभा सहित चारों के साथ भी छलावा कर रहे हैं। बजट में पॉलीटेक्निक कॉलेज़ के इंजीनियरिंग फेकल्टी के लिये भी कोई राशि नहीं दी गयी। कन्यादान योजना की बड़ी – बड़ी बातें बरसात के बाद करने की हो रही है। क्या गरीब बच्चे – बच्चियां इंतजार में बैठे रहंेगे। उक्त योजना के अंतर्गत पहली सरकारों द्वारा समय – समय पर डेट निकाली जाती थी। 15 दिन, महीने भर में जिन गरीब परिवारों की बच्चियों की शादी तय होती थी उनको योजना का लाभ मिलता था। उन्होंने कहा कि मेरे जिले में 2000 कन्याओं का विवाह हुआ है रिकॉर्ड बता दीजिये कि उन पूरी कन्याओं को आपने 51 हजार रूपये राशि दे दी है, आज भी उन परिवारों को राशि प्राप्त नही हुई है।

सिवनी विधायक दिनेश राय मुनमुन ने बीमारों के उपचार के संबंध में अपनी बात रखते हुए कहा कि हमारे द्वारा लिखे पत्र में राज्य बीमारी कोष से उपचार होता था परंतु आज विभाग द्वारा पत्र लौटा दिया जाता है। वर्तमान में ऐसी कोई योजना नहीं चल रही है मरने वाले व्यक्तियों को भी 05 हजार रूपये नहीं मिल रहे हैं। उन्होंने मंत्री से कहा कि कम से कम लोगों का उपचार कराकर मरने वालों को बचाईये। उन्होंने कहा कि उम्मीद करता हूँ और आने वाले बजट के साथ – साथ आप कहीं न कहीं सिवनी जिले को भी नक्शे में रखें। साथ ही सच्चे पड़ौसी और जन सेवक बनें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *