डिंडोरी जिले के आंगनवाड़ी केंद्रों में बंटेगी कुकीज

 

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

डिंडोरी (साई)। मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल डिंडोरी जिले के आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों को उनकी रुचि के मुताबिक नाश्ते में कुकीज दिए जाएंगे। आधिकारिक तौर पर सोमवार को बताया गया कि डिंडोरी जिले के आंगनवाड़ी केंद्रों में बहुत जल्द नाश्ते में अलग-अलग प्रकार के कुकीज दिए जाएंगे।

ग्रामीण महिलाओं के तेजस्विनी जागृति महिला संघ ने बच्चों की रुचि को ध्यान में रखकर कुकीज की रेसिपी तैयार की है। राज्य शासन ने इसे बच्चों को नाश्ते में देने की मंजूरी दी है। बताया गया है कि तेजस्विनी कार्यक्रम से जिले की ग्रामीण महिलाओं को स्व-रोजगार से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। शहपुरा जिले के ग्राम गुरैया में तेजस्विनी महिला संघ ने अमृता न्यूट्री बेकरी इकाई स्थापित की है, जिसमें महिलाओं द्वारा कोदो-कुटकी, महुआ और मक्का बिस्किट, ब्रेड और पावरोटी बनाए जाते हैं।

बताया गया है कि ग्रामीण महिलाओं द्वारा तैयार यह सामग्री स्थानीय बाजार और गांव-गांव में बेची जा रही है, साथ ही आंगनवाड़ी केंद्रों में भेजा जा रही है। इस इकाई से ग्रामीण महिलाएं प्रतिमाह औसतन पांच से छह हजार रुपये आसानी से कमा रही हैं। जिला प्रशासन ने महिलाओं की इस इकाई का जिले में विस्तार करने का निर्णय लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *