बुधवारी डिवाईडर पर रिक्त स्थान छोड़ा जाये!

 

 

मुझे शिकायत नगर पालिका सिवनी से है जिसके द्वारा मॉडल रोड के नाम पर जी.एन. रोड को बेतरतीब कर दिया गया है। मॉडल रोड एक लंबे समय से निर्माणाधीन ही नज़र आ रही है।

इस मार्ग पर सबसे ज्यादा परेशानी बुधवारी बाज़ार क्षेत्र में होती है। यहाँ वर्तमान में अनावश्यक रूप से बेहद चौड़ा डिवाईडर तो बनवा दिया गया है लेकिन इसका रखरखाव भी सही तरीके से न किये जाने के कारण यह परेशानी का सबब बनता ही नज़र आ रहा है।

इस डिवाईडर पर नगर पालिका से लेकर गुप्ता बुक हाउस तक कहीं भी खाली स्थान नहीं छोड़ा गया है जिसकी सहायता से लोग एक तरफ से दूसरी तरफ आना-जाना कर सकें। इसके अभाव में कई बार लोगों को डिवाईडर पर चढ़कर ही सड़क की दूसरी तरफ जाते हुए देखा जा सकता है जो उनके लिये सड़क दुर्घटना का कारण भी बन सकता है लेकिन मजबूरी में लोगों को ऐसा करने के लिये विवश होना पड़ जाता है।

इस स्थिति से सबसे ज्यादा परेशानी उन महिलाओं को होती है जिनके साथ उनके छोटे-छोटे बच्चे भी होते हैं। वाहन चालक तो डिवाईडर के छोर पर जाकर मार्ग बदल सकते हैं लेकिन डिवाईडर की लंबाई ज्यादा होने के कारण वाहन चालक भी, एक छोर पर रिक्त छोड़े गये स्थान तक जाने की बजाय रॉन्ग साईड से ही वाहन चालन पसंद करते हैं जिसके कारण उन वाहन चालकों को परेशानी हो जाती है जो अपनी सही दिशा में चल रहे होते हैं।

नगर पालिका ही बता सकती है कि बुधवारी बाज़ार क्षेत्र में बनाये गये अत्यंत चौड़े डिवाईडर का क्या महत्व रह जाता है जबकि वहाँ पर पौधारोपण आदि कुछ भी करना ही नहीं है। बंजर पड़े इस डिवाईडर को पोस्ट ऑफिस के सामने वाले डिवाईडर की तरह हरा-भरा यदि बना दिया जाता तो सिर्फ बुधवारी बाज़ार क्षेत्र ही नहीं बल्कि यहाँ से होकर गुजरने वाले बाहरी वाहन सवार भी सिवनी की एक अच्छी छवि लेकर जा सकते थे लेकिन नगर पालिका सिवनी को सिवनी की छवि से कोई सरोकार नज़र नहीं आता है।

आवश्यकता इस बात की है कि बुधवारी बाज़ार क्षेत्र में बनाये गये डिवाईडर पर क्रॉसिंग के लिये स्पेस निकाला जाये। यदि ऐसा किया जाता है तो बारिश के दिनों में जल भराव की स्थिति से भी निज़ात पाने में आसानी हो सकती है। गौरतलब होगा कि भारी बारिश के दौर में बुधवारी बाज़ार का यह क्षेत्र जल मग्न जैसी स्थिति में पहुँच जाता है जब सड़क का पानी डिवाईडर से टकराकर दुकानों के अंदर भरने लगता है।

नगर वासियों को भी अभी भी इंतजार है नगर पालिका में ईमानदार और कर्त्तव्यनिष्ठ जिम्मेदारों की जिनके अभाव में शहर इस तरह की बेमतलब की समस्याओं से लगातार दो-चार हो रहा है।

अशोक ईनामदार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *