किसकी अनुमति से पिलायी जा रही शराब!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। शहर के बीचों बीच एक स्थान ऐसा भी है जहाँ बिना किसी वैध लाईसेंस के मद्यपान कराया जा रहा है। उक्ताशय की बात उत्साही युवा रज्जू चतुर्वेदी के द्वारा समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कही गयी।

उन्होंने कहा कि देशी शराब दुकान में अहाते हैं, पर विदेशी शराब दुकानों में अहाते नहीं हैं। यही कारण है कि शहर के खाली प्लाट, खेल के मैदान आदि अघोषित आहतों में तब्दील हो गये हैं। उन्होंने कहा कि अगर किसी को मद्यपान करना हो तो अहाते में कम से कम 10 रूपये सिटिंग चार्ज एक बार में देना होता है।

रज्जू चतुर्वेदी का कहना है 10 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से साल भर में कम से कम 3650 रूपये शराब के शौकीन को खर्च करना ही होगा, पर शहर के पॉश इलाके में एक स्थान ऐसा भी है जहाँ महज 1000 रूपये सालाना देकर आराम से बैठकर शराब का सेवन किया जा सकता है, इस लिहाज से यहाँ महज़ तीन रूपये प्रतिदिन में ही मयजदे आसानी से शराब का सेवन कर सकते हैं।

उन्होंने आबकारी विभाग और पुलिस प्रशासन से अपील की है कि शहर में इस तरह से बिना लाईसेंस हो रही शराबखोरी पर प्रतिबंध लगाया जाये और इस स्थान पर शराब पीने, पिलाये जाने को रोका जाये या इस जगह के लिये वैध लाईसेंस की प्रक्रिया पूरी करवायी जाये। उन्होंने कहा कि जिस स्थान पर यह काम हो रहा है उस भवन का प्रकरण कलेक्टर कार्यालय में लंबित भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *