परवान चढ़ रही लखनादौन पुलिस की मुहिम

 

 

बिना आर्थिक मदद लिये लोगों को अस्पताल मित्र बना रही लखनादौन पुलिस

(ब्यूरो कार्यालय)

लखनादौन (साई)। एक ओर जिला अस्पताल के कायाकल्प हेतु अस्पताल प्रशासन के द्वारा अस्पताल मित्र बनाये जाने की पहल की जा रही है, इससे उलट लखनादौन पुलिस के द्वारा बिना किसी से आर्थिक सहयोग लिये ही लोगों को प्रेरित किया जाकर लखनादौन के सिविल अस्पताल में नवाचार किया जा रहा है, जिसकी मुक्त कण्ठ से प्रशंसा हो रही है।

सोशल मीडिया व्हाट्सएप पर लखनादौन के युवाओं के द्वारा बनाये गये एक समूह में विचारों के आदान प्रदान के दौरान ही लखनादौन में डॉ.परतेती और डॉ.वीथी जैन के प्रकरण होने के साथ ही अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं को पटरी पर लाने के लिये लोगों ने विचार पोस्ट करना आरंभ किया।

बताया जाता है कि लखनादौन थाना प्रभारी महादेव नागोतिया के द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक की मंशाओं को भांपते हुए इस समूह के सदस्यों को अस्पताल में सहयोग का प्रस्ताव रखा गया। युवाओं को यह प्रस्ताव बहुत भाया और अगले ही दिन से पुलिस के द्वारा नागरिकों के सहयोग से अस्पताल में भर्त्ती मरीज़़ों और उनके परिजनों को सुबह चाय और नाश्ता दिया जाकर नवाचार किया गया।

लखनादौन में चल रहे इस नवाचार को लोगों के द्वारा न केवल जमकर सराहा जा रहा है वरन स्वप्रेरणा से लोग पुलिस की इस मुहिम से जुड़ते भी दिख रहे हैं। इस समूह में लखनादौन क्षेत्र में निवास करने वाले पत्रकारों, अधिवक्ताओं, जन प्रतिनिधियों, व्यापारियों आदि की भी अहम भूमिका बतायी जा रही है। सभी निर्विकार भाव से बिना आर्थिक सहयोग लिये ही अपने – अपने स्तर पर ये सारी व्यवस्थाएं करने में जुटे हुए हैं।

अस्पताल में सुबह मरीज़़ों और उनके परिजनों को चाय एवं पौष्टिक नाश्ता मिलने से मरीज़़ भी इन लोगों के सिर पर हाथ रखकर दुआएं देते नज़र आते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि जब वे अस्पताल जाकर लोगों की सेवा करते हैं तो उन्हें आत्म संतुष्टि होती है।

इस पूरे अभियान की विशेषता यह है कि इसके लिये आर्थिक सहयोग किसी से भी नहीं लिया जा रहा है। लोगों का कहना है कि वैसे तो मरीज़़ों को चाय और नाश्ता देने का काम अस्पताल प्रशासन का है और इसके लिये बजट का प्रावधान भी होता है पर अस्पताल में मिलने वाले नाश्ते की बजाय लोगों के द्वारा आत्मीयता और प्यार के साथ परोसे गये नाश्ते को पाकर सभी आनंदित हो उठते हैं।

लखनादौन क्षेत्र में पुलिस के द्वारा बिना आर्थिक सहयोग लिये नर सेवा ही नारायण सेवा के मूल मंत्र को अपनाकर किये जा रहे इस नवाचार की जमकर प्रशंसा हो रही है। तीन चार दिनों में अनेक लोग इस अभियान से अब तक जुड़ चुके हैं। लोगों का कहना है कि यह अभियान अगर इसी तरह जारी रहा तो यह नवाचार प्रदेश में नज़ीर बन जाये तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिये।

बताया जाता है कि इस तरह मरीज़़ों की सेवा के साथ ही साथ अब सोशल मीडिया के जरिये जुड़े लोगों के द्वारा सप्ताह में एक दिन अस्पताल की साफ सफाई का बीड़ा भी उठाया गया है। लोगों ने जिला पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक से जनापेक्षा व्यक्त की है कि इस तरह के अभियान को उन थाना क्षेत्रों में भी चलाया जा सकता है जहाँ अस्पताल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *