यातायात में बाधा डालने वालों पर कौन करेगा कार्यवाही

 

सिवनी में जिसके जो मन में आ रहा है उसके द्वारा अपने काम को उस तरीके से अंजाम दिया जा रहा है। ऐसा लगता है जैसे सिवनी में कुछ विशेष लोगों या संस्थाओं को आज़ाद छोड़ दिया गया है और उनकी मनमानी के चलते आमजन परेशान हुए बिना नहीं हैं।

आश्चर्यजनक बात तो यह है कि नगर पालिका प्रशासन का गैर जिम्मेदाराना रवैया तो जग जाहिर हो ही चुका है लेकिन यातायात विभाग भी उसके साथ कदमताल करता हुआ दिख रहा है। यातायात विभाग के द्वारा सिवनी के यातायात को व्यवस्थित करने की दिशा में कोई प्रयास किये जा रहे हों, ऐसा रत्ती भर भी दिखायी नहीं देता है।

मजे की बात तो यह है कि इस यातायात विभाग की सामग्री ही कई बार यातायात को बाधित करती हुई नज़र आती है लेकिन इस विभाग के द्वारा भी गैर जिम्मेदाराना तरीके से सड़क पर पड़ी उन सामग्रियों को तब नहीं हटाया जाता है जबकि उसका कोई उपयोग ही संबंधित स्थान पर नहीं रह जाता है।

कचहरी चौक की बात की जाये तो यहाँ पर यातायात पुलिस के सिपाही को खड़ा होने के लिये रोटर तो बनाया गया है लेकिन उसका उपयोग कभी भी होता हुआ नहीं दिखायी देता है। अब तो इसी रोटर के पास ही यातायात पुलिस के द्वारा वॉच टॉवर जैसा स्टैण्ड रख दिया गया है जिसका निचला हिस्सा जिसे बोलचाल की भाषा में पाये बोला जा सकता है वह रोड पर बेतरतीब तरीके से निकला हुआ है।

वॉच टॉवर (स्टैण्ड) के इस निचले हिस्से में यदि रेडियम जैसी कोई चमकदार चीज लगा दी जाये, जिस पर रोशनी पड़कर रिफ्लेक्ट होती हो तो यह रात के समय वाहन चालकों के लिये परेशानी का सबब कतई नहीं बनेगा। वैसे वास्तव में देखा जाये तो सामान्य समय में जब रोटर का ही उपयोग नहीं किया जा रहा है तो यह वॉच टॉवर जैसा उपकरण व्यस्ततम चौराहे पर बेतरतीब तरीके से रखा जाना समझ से परे है। इसके लिये कोई अन्य व्यवस्था बनायी जा सकती है।

यदि वॉच टॉवर की यहाँ इतनी ही आवश्यकता है तो रोटर को पुनः व्यवस्थित करते हुए उसका निर्माण ऐसा करवाया जाये कि वहाँ यातायात का सिपाही भी खड़ा हो सके और उस रोटर के ऊपर का हिस्सा वॉच टॉवर की तरह उपयोग में लाया जा सके। यातायात विभाग की देखादेखी कटंगी रोड के निर्माता ठेकेदार के द्वारा भी जमकर मनमानी की जा रही है।

निर्माणाधीन कटंगी रोड के ठेकेदार के द्वारा सड़क पर ही चेकर्स के ढेर रखवा दिये गये हैं जो कभी भी गंभीर दुर्घटना का कारण बन सकते हैं। इन चेकर्स को जब लगाया जायेगा, तब लगाया जायेगा लेकिन वर्तमान में यदि इन्हें सड़क किनारे ही व्यवस्थित रखवा दिया जाये तो यातायात में बाधा उत्पन्न नहीं होगी। इसके चलते ऐसा भी लगता है कि यातायात विभाग के अधिकारी इस मार्ग पर आना-जाना ही नहीं करते हैं जिसके कारण उनकी जानकारी में यह बात नहीं है कि कटंगी रोड पर ठेकेदार की मनमानी के चलते किस तरह यातायात में कृत्रिम बाधा निर्मित कर दी गयी है। इस तरह की कार्यप्रणाली शहर वासियों के लिये निराशा की ही बात बनी हुई है।

राजीव सक्सेना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *