दुग्ध उत्पादों की जाँच जारी

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। मुरैना में सिंथेटिक दूध का निर्माण किया जाना पाये जाने के कारण आयुक्त खाद्य सुरक्षा मध्य प्रदेश एवं नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन मध्य प्रदेश के आदेश के अनुसार संपूर्ण मध्य प्रदेश में दूध एवं दुग्ध उत्पादों के नमूना संग्रहण की कार्यवाही सतत रूप से की जा रही है।

इसी तारतम्य में सिवनी जिले में खाद्य एवं औषधि प्रशासन सिवनी द्वारा रविवार को सिवनी शहर स्थित चौरसिया दूध डेयरी एवं अंबर दूध डेयरी एण्ड डेली नीड्स से खाद्य पदार्थ गाय का दूध एवं शिव प्रसाद साहू घी विक्रेता लखनादौन से घी का नमूना लिया जाकर तथा 22 जुलाई को भैरोगंज सिवनी स्थित महावीर डेयरी से घी का नमूना लिया जाकर जाँच हेतु राज्य खाद्य प्रयोग शाला भोपाल की ओर भेजे गये हैं, जिनकी विश्लेषण रिपोर्ट प्राप्ति उपरांत अग्रिम कार्यवाही की जायेगी।

इसके पूर्व माह जुलाई में ही एसकेके मिनरल्स कहानी से एल्केलाईन पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर, विनोद कुमार अनिल कुमार ट्रेडर्स घंसौर से तूअर दाल, रिया ट्रेडर्स घंसौर से शक्कर, यशपाल ढाबा छपारा से सरसों तेल, स्वराज किराना सिवनी से मूंगदाल, खेमुका ऑयल मिल सिवनी से चना दाल, देव किराना लखनादौन से मखाना, जय अंबे किराना कान्हीवाड़ा से शक्कर के नमूने लिये जाकर जाँच हेतु भेजे गये हैं।

इसके साथ ही मई एवं जून में लिये गये नमूनों में से प्रदीप बघेल दूध विक्रेता से लिया गया खाद्य पदार्थ दूध का नमुना अवमानक, पवन होटल अरी से लिया गया पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर का नमूना मिथ्या छाप, जय अंबे दूध भण्डार पहाड़ी से लिया गया पनीर का नमूना अवमानक एवं हरिओम किराना चमारी से लिया गया तूअर दाल का नमूना अवमानक पाया गया है। उक्त प्रकरणों में संबंधित विक्रेताओं को नोटिस जारी कर विश्लेषण रिपोर्ट के विरुद्ध अपील हेतु समय दिया गया है, तत्पश्चात अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।