बारिश न होने से सूख रही धान

 

(ब्यूरो कार्यालय)

बरघाट (साई)। बरघाट तहसील के नयेगाँव में बोयी गयी खरीफ की फसलें बारिश न होने के चलते सूखने की कगार पर पहुँच चुकी हैं। क्षेत्र के अनेक किसानों ने धान व मक्के की बोवनी की है किंतु एक पखवाड़े से बारिश नहीं होने के कारण किसान परेशान हैं।

बारिश की बाट जोहते किसानों के हाल बेहाल हो गये हैं। 15 जून से किसान, खेती किसानी में बीजारोपण कर भरपूर वर्षा होने की प्रतीक्षा करता है किंतु इस बार परिणाम विपरीत हैं। माघ मास में भरी गयी खार पूर्ण रूप से पीली पड़कर पैरा बन रही है। पूर्व की वर्षा के बाद बोयी गयी कीचड़ खार के बीजों को पक्षियों ने चुग लिया। अनेक क्षेत्रों में बोयी गयी फसल सूखकर मुरझा रही है। धान व मक्के की सभी फसलें प्रभावित हो रही हैं। किसानों के पास सिंचाई सुविधा भी सुलभ नहीं है। आसपास के नदी तालाब सूखे पड़े हैं। किसानों का कहना है कि ऐसे में वर्षा न होने के कारण अच्छी पैदावार होने की उम्मीद टूट चुकी है।