स्कूल बसों के लिये नयी गाईड लाईन!

 

 

 

स्कूल बसों के लिये नयी गाईड लाईन!

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। शालेय परिवहन में लगे वाहनों में अब व्हीकल ट्रैकिंग डिवाइस (व्हीटीडी), कैमरे और पैनिक बटन लगाना सभी शैक्षणिक वाहनों में लगाना अनिवार्य हो गया है। इससे यह फायदा होगा कि अब बच्चों को घर से स्कूल ले जाने वाले प्रत्येक वाहन की मॉनीटरिंग तो होगी ही, साथ ही परिजन भी वाहन की लाईव लोकेशन मोबाईल पर देख सकेंगे।

इसके लिये परिवहन विभाग ने इसका एक्सेस अब स्टूडेंट्स, उनके परिजनों और शैक्षणिक संस्थानों को देना अनिवार्य कर दिया है। इस एक्सेस को देने की जिम्मेदारी वाहन संचालक की होगी। इस संबंध में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डॉ.शैलेंद्र श्रीवास्तव ने निर्देश जारी कर दिये हैं। अब 15 साल पुराने वाहन शैक्षणिक संस्थानों में नहीं चल पायेंगे।

वहीं सभी शैक्षणिक संस्थानों में अब ट्रांसपोर्ट मैनेजर की नियुक्ति अनिवार्य की गयी है। बस के अंदर और बाहर हेल्प लाईन नंबर-100 लिखना भी जरूरी है। इसके अलावा भी बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट की गाईड लाईन का पूर्ण रूप से पालन कराने के निर्देश दिये गये हैं।

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। शालेय परिवहन में लगे वाहनों में अब व्हीकल ट्रैकिंग डिवाइस (व्हीटीडी), कैमरे और पैनिक बटन लगाना सभी शैक्षणिक वाहनों में लगाना अनिवार्य हो गया है। इससे यह फायदा होगा कि अब बच्चों को घर से स्कूल ले जाने वाले प्रत्येक वाहन की मॉनीटरिंग तो होगी ही, साथ ही परिजन भी वाहन की लाईव लोकेशन मोबाईल पर देख सकेंगे।

इसके लिये परिवहन विभाग ने इसका एक्सेस अब स्टूडेंट्स, उनके परिजनों और शैक्षणिक संस्थानों को देना अनिवार्य कर दिया है। इस एक्सेस को देने की जिम्मेदारी वाहन संचालक की होगी। इस संबंध में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डॉ.शैलेंद्र श्रीवास्तव ने निर्देश जारी कर दिये हैं। अब 15 साल पुराने वाहन शैक्षणिक संस्थानों में नहीं चल पायेंगे।

वहीं सभी शैक्षणिक संस्थानों में अब ट्रांसपोर्ट मैनेजर की नियुक्ति अनिवार्य की गयी है। बस के अंदर और बाहर हेल्प लाईन नंबर-100 लिखना भी जरूरी है। इसके अलावा भी बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट की गाईड लाईन का पूर्ण रूप से पालन कराने के निर्देश दिये गये हैं।