फ्लोराइड मुक्त वृहद वाटर फिल्टर प्लांट की माँग

 

(ब्यूरो कार्यालय)

केवलारी (साई)। वर्ष भर पेयजल की समस्या से केवलारी वासी व आसपास के दर्जनों गाँवों के ग्रामीणजन परेशान रहते हैं। केवलारी ओर आस पास के ग्रामों के लिये फ्लोराइड मुक्त वृहद वाटर फिल्टर प्लांट बनाये जाने की माँग समाजसेवी डॉ.अविनाश तिवारी ने शासन – प्रशासन से की है।

डॉ.तिवारी ने बताया कि केवलारी ओर आसपास की पंचायत बोथिया, डोभ, मलारा, बिनेकी, जामुनपानी, बगलई, अलोनिखपा, पांजरा समेत अन्य पंचायतों में भीषण जल संकट है। वहीं 80 से 90 प्रतिशत फ्लोराइड पानी में विद्यमान है और यहाँ के जल स्त्रोत सूख गये हैं। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के अंतर्गत पानी का अधिकार को जीवन का अधिकार का हिस्सा माना गया है।

उन्होंने कहा कि जल अधिकार का मतलब है कि प्रत्येक व्यक्ति को व्यक्तिगत और घरेलू प्रयोजन के लिये पर्याप्त सुरक्षित स्वीकार भौतिक रूप से पहुँच के भीतर और उचित दर पर पानी मिलना चाहिये। उन्होंने कहा कि भारतीय मानव का सर्व भौमिक अधिकार है जिससे हमारी माताओं बहनों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो। वहीं उन्होंने बताया कि पानी के अभाव में निर्मल भारत, समग्र स्वच्छता अभियान प्रभावित हो रहा है। इससे लोग शौचालय का उपयोग नहीं करते हैं। शुद्ध जल उपलब्ध कराना सार्वभौमिक मूलभूत बुनियादी आवश्यकता है।

ग्रामीण अमित तिवारी, प्रशांत तिवारी, कमलेश उपाध्याय, गणेश सोनी, कमल साहू, राज बधेल, अरुण चौरसिया, पूनम राणा, दिव्या बिसेन, लता सराठे, राजेश यादव, रामफल यादव, राजेश चंदेल, मनमोहन चंदेल, दीपक, बंटी तिवारी, अजय चौरसिया, हेमंत नाग आदि ने बताया कि मुख्यालय केवलारी में पानी की किल्लत हमेशा बनी रहती है, वहीं आसपास के अनेक गाँवों में अभी भी ग्रामीणों को दूषित पानी पीने के लिये मजबूर होना पड़ रहा है। ऐसे में शुद्ध पानी लोगों को मिल सके इसके लिये डॉ.तिवारी ने प्रधानमामंत्री, मुख्यमंत्री, पीएचई मंत्री, मुख्य सचिव मध्य प्रदेश शासन को पत्र लिखकर केवलारी ओर आसपास की ग्राम पंचायतों का सर्वे कर वृहद फ्लोराइड मुक्त वाटर फिल्टर प्लांट बनाकर शुद्ध पानी प्रदान किये जाने की माँग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *