125 साल बाद पंचयोग में मनायी जायेगी हरियाली अमावस्या

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सावन मास में इस बार कई शुभ संयोग बन रहे हैं। इसमें 125 साल बाद एक अगस्त को हरियाली अमावस्या पंच योग में मनायी जायेगी। वहीं नाग पंचमी भी इस बार सावन के सोमवार 05 अगस्त को मनायी जायेगी। इसके साथ ही सोमवार को रक्षाबंधन एवं स्वतंत्रता दिवस भी मनाया जायेगा।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार हरियाली अमावस्या पर पंचयोग में इस बार पहला रिद्धि योग, दूसरा शुभ योग, तीसरा शुभ पुष्या योग, चौथा सर्वार्थ सिद्धि योग, और पाँचवां अमृत सिद्धि योग रहेगा। इस योग में माता पार्वती और भोलेनाथ की पूजा करने से सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

इसके साथ ही कुंवारी कन्याओं को उनका मनचाहा वर प्राप्त होता है। साथ ही सुहागिन महिलाओं का सुहाग दीर्घायु होता है। हरियाली अमावस्या का पर्व हरियाली का महत्व सभी को समझ आये इसलिये मनाया जाता है। इस दिन अधिकांश लोग अपने पूर्वजों के नाम से पौधारोपण करते हैं।

यह पौधा करें भेंट, आयेगी समृद्धि : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार हरियाली अमावस्या पर स्वास्थ्य के लिये नीम, सुख समृद्धि के लिये तुलसी का पौधा, ज्ञान सुख के लिये केले का पौधा, धन के लिये आंवले का पौधा भेंट करना चाहिये।

ज्योतिषाचार्यों की मानें तो इस बार नाग पंचमी भी 05 अगस्त, 20 साल बाद विशेष योग लेकर आ रही है। इस दिन नाग पंचमी पर चंद्रप्रधान हस्त नक्षत्र के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग, सिद्धि योग, रविह योग के साथ सोमवार की युक्ति अनिष्ठ ग्रहों की शांति के लिये सर्वाेत्तम है।

कालसर्प योग, पितृ शांति के लिये सर्वाेत्तम सिद्धि योग है। इस योग में शिवजी का रुद्राभिषेक पूजन सर्व मनोकामनाएं सिद्धी के लिये अचूक माना जाता है। इससे पहले सावन मास में इन ग्रहों में नाग पंचमी 16 अगस्त 1999 को मनायी गयी थी और अब यह योग 21 अगस्त 2023 में बनेंगे।

इसी तरह 15 अगस्त को श्रवण नक्षत्र में रक्षा बंधन और स्वतंत्रता दिवस मनाया जायेगा। इसी दिन रात्रि 09 बजे से पंचक आरंभ हो जायेंगे। इसलिये सभी बहनें अपने भाईयों को रात्रि 09 बजे से पूर्व राखी बांध दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *