सालों से नहीं हुई टंकी की सफाई, दूषित पानी पीने को मजबूर ग्रामीण!

 

 

जर्जर अवस्था में पहुँच गयी 20 साल पहले बनी पानी की टंकी

(ब्यूरो कार्यालय)

बांकी (साई)। सिवनी विकास खण्ड के ग्राम पंचायत बांकी में सालो पहले बनी पानी की टंकी की सफाई आज तक नहीं हुई है इसी टंकी से सप्लाई हो रहे दूषित पानी पीने के लिये ग्रामवासी मजबूर हैं।

इस टंकी का निर्माण वर्ष 1995 के दौरान हुआ था। नियमानुसार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग और ग्राम पंचायत को अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए समय – समय पर पानी की टंकी की सफाई करनी चाहिये थी लेकिन ऐसा आज तक नहीं हो पाया। लिहाज़ा हजारों की आबादी वाला ग्राम बांकी में आज दूषित पानी की सप्लाई हो रही है। कुछ ग्रामीणों ने शिकायत करते हुए बताया कि गंदा पानी पीने से कुछ लोग बीमारी के शिकार हो रहे हैं और बच्चों के स्वास्थ्य पर भी दूषित पानी का विपरीत प्रभाव पड़ रहा है।

पीएचई ने लगाया है जर्जर अवस्था का बोर्ड : गौरतलब है कि सालों पहले बनी इस टंकी का समय – समय पर रख रखाव नहीं हो पाने के कारण इसकी हालत अब जर्जर हो चुकी है। स्थिति यह है कि टंकी में बनी सीढ़ी भी टूट गयी है जिस कारण सफाई के लिये कर्मचारियों का टंकी तक भी पहुँचना संभव नहीं है। यहाँ पीएचई विभाग की टंकी जर्जर अवस्था में है, का निर्देश वाला एक बोर्ड भी लगाया है। ग्रामीणों ने भी आशंका जतायी है कि यह टंकी कभी भी ढह सकती है।

टंकी के नजदीक है स्कूल : ग्रामीणों ने बताया कि जिस जगह पर टंकी बनी है उसके नजदीक ही प्राईमरी स्कूल भी स्थित है। इस स्कूल में लगभग 300 बच्चे अध्ययन करते है। टंकी जर्जर होने के कारण हमेशा हादसे का डर बना हुआ रहता है। बच्चे और अभिभावक स्कूल परिसर में डरे हुए तो रहते ही है बच्चों के अभिभावक भी सहमे हुए है कि कहीं कोई अनहोनी न हो जाये। उल्लेखनीय होगा कि इसी तरह की एक जर्जर टंकी भोपाल के अरेरा कॉलोनी में कुछ साल पहले धराशायी हो गयी थी, जिसमें अनेक लोग घायल हुए थे।

शिकायत के बाद भी नहीं सुन रहे अधिकारी : ग्रामीणों ने बताया कि इस संबंध में हमने जिला कलेक्टर सहित पीएचई विभाग के उच्चाधिकारियों को अवगत कराया है कि पानी की टंकी से दूषित सप्लाई हो रही है इसके साथ ही जर्जर अवस्था में पहुँच चुकी टंकी से कई जगह सीमेंट का मटेरियल भी टूटकर नीचे गिर रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि इसका रख रखाव किया जाना आवश्यक है। इसके बावजूद भी अधिकारी खतरे का सबब बन चुकी इस टंकी की ओर ध्यान नहीं दे रहे है। लगता है कि प्रशासनिक अधिकारी भी किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहे है। ग्रामीणों ने चेतावनी भरे लहज़े में कहा है कि यदि विभाग जल्द से जल्द इस टंकी की साफ, सफाई और मरम्मत नहीं करता है तो वे उग्र विरोध करने पर मजबूर होंगे। ग्रामीणों का कहना है कि इस संबंध में ग्राम पंचायत में भी एक बैठक कर विचार विमर्श किया जा रहा है और आने वाले समय में जिला मुख्यालय पहुँचकर धरना प्रदर्शन करने की तैयारी की जा रही है।

जिला कलेक्टर और पीएचई विभाग को ग्राम पंचायत के माध्यम से शिकायत की गयी थी जिसमें जिला कलेक्टर के द्वारा एक समिति गठन के लिये कहा गया है. इस माह के अंत तक समिति निरीक्षण करेगी और समिति के निर्णय के अनुसार या तो सुधार किया जायेगा या फिर डिस्मेंटल किया जायेगा. यह निर्णय समिति के निरीक्षण के बाद किया जायेगा.

नारायण सिंह बघेल,

सचिव,

ग्राम पंचायत बांकी.

One thought on “सालों से नहीं हुई टंकी की सफाई, दूषित पानी पीने को मजबूर ग्रामीण!

  1. Pingback: montre replique

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *