बलात्कारी को मिला आजीवन करावास

 

 

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। नाबालिग के साथ ब्लात्कार के आरोपी को जीवनपर्यन्त कारावास जिला सिवनी के माननीय विशेष न्यायाधीश के द्वारा बलात्कार के अपराध में अभियुक्त को उसके जीवन की अंतिम सांस तक के सश्रम कारावास से दंडित करने की सजा सुनाई है।

घटना के बारे मीडिया सेल प्रभारी मनोज सैयाम द्वारा बताया गया कि थाना कान्हीवाड़ा के ग्राम की यह घटना 06 दिसंबर 2016 के करीब 10 बजे रात्रि की है। कक्षा 09वी की छात्रा के नाना का स्वर्गवास हो जाने से उसके माता पिता दूसरे ग्राम गये हुए थे। और पीड़ित छात्रा अकेली थी और पढ़ाई कर रही थी।

उन्होंने बताया कि इसी बीच आरोपी प्यारेलाल कुमरे पिता रुकदेव कुमरे निवासी ग्राम नादखेड़ा उसके घर का दरवाजा खटखटाया और पीने के लिये पानी माँगा और जब पीड़िता पानी लेने घर के अंदर गयी तो आरोपी भी घर मे घुस गया और उसके साथ जबरदस्ती बलात्कार किया और धमकी भी दी कि यह बात किसी को बताई तो उसे स्कूल आते जाते समय में मारकर कर नाले में फेंक देगा।

उन्होंने बताया कि दो दिन बाद जब उसके माता पिता घर पर आये तो उसने घटना की सारी बात बताई। घटना की रिपोर्ट पर अभियुक्त के विरूद्ध बलात्कार का मामला कायम कर अन्वेषण पूर्ण पश्चात चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया था। जिसकी सुनवायी माननीय न्यायाधीश संदीप कुमार श्रीवास्तव, विशेष न्यायाधीश (पोस्को एक्ट ) सिवनी की न्यायालय में की गयी।

इसमें शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक नवल किशोर सिंह तथा अपर लोक अभियोजक नेतराम चौरसिया के द्वारा गवाहों और सबूतों के आधार पर अभियुक्त को दोषी साबित कराया। जिसके आधार पर माननीय न्यायालय द्वारा अभियुक्त प्यारेलाल को धारा-376 (2) (प) भादवि के अपराध में दोषी पाते हुये जीवन भर कठोर कारावास की सजा भुगतवाए जाने की सजा सुनाई है।